5 मंत्र प्रयोग जिससे सपने में हर समस्या का समाधान पा सकते है

क्या आप जानते है की हमारे शास्त्रों ऐसी भी कुछ विधियां है, जिनको सही तरीके से करने पर हम हमारी समस्याओं का समाधान सपने में पा सकते है. आप को यह सुनकर यकीन नहीं हो रहा होगा, लेकिन यह 100% सच है. कुछ ऐसे मंत्र है जिनकी साधना अगर आप करे तो मानिये की आप अपने जीवन की आधी से ज्यादा परेशानियों का अंत कर देंगे.

हम जो यहां पर 5 विधि जो की प्रश्न के उत्तर देने वाले देवताओ के मंत्र है उनके बारे में बताने वाले है उनको विधि अनुसार करने पर आप रात को सपनो में अपनी हर समस्या का समाधान पा सकते है, इनमे से एक ही विधि तो आपको तुरंत ही उत्तर दे देगीं, जैसे की आप किसी पर फ़ोन पर बात कर रहे हो और वहां से आपको उत्तर मिल रहे हो. इसके अलावा सपनो में भी उत्तर प् सकते है. मंत्रो से पैदा होने वाली शक्ति आपके सपने में आकर आप जिस प्रश्न का उत्तर चाहते है, जिस समस्या का हल चाहते है उस का हल देती है.

जैसे की चुनाव में विजय प्राप्त करेंगे या नहीं, नौकरी मिलेगी या नहीं, परीक्षा में पास होंगे या नहीं, कोन-सा धंधा ज्यादा फायदेमंद होगा, मुक़दमे में जित मिलेगी या नहीं, पुत्र प्राप्त करेंगे या नहीं, जिस काम में पैसे लगा रहे है उसमे लाभ मिलेगा या नहीं, प्रेमिका से शादी करू या नहीं आदि ऐसे कई सवालो के जवाब आप पा सकते है. तो चलिए अब आगे जानते है उन मन्त्रों के बारे में जिनके प्रयोग से यह सब कुछ संभव हो जाता है.

शुरू करने से पहले एक बात कहना चाहूंगा की अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे फेसबुक और व्हाट्सप्प पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे और कमेंट में अपनी आस्था अनुसार जय बजरंगबली भी जरूर लिखी. यह दुर्लभ जानकारी आपको मिली है आप इसे आगे बढ़ाये शेयरिंग बटन पर क्लिक करके शेयर करे तो आपको भी दूसरों की मदद करने का पुण्य मिलेगा.

सबसे पहले जानते है मुंह मांगे प्रश्नो का उत्तर देने वाली कर्णपिशाचिनी विद्या के बारे में. इस विद्या को अनेक साधनो ने सत्य प्रमाणित किया है. इस कर्णपिशाचिनी विद्या का प्रयोग कुछ इस तरह से करते है की पहले आम की लकड़ी का पट्टा बनवा लेते है. फिर दिवाली की रात या ग्रहण की अवधि या फिर दुर्गा अष्टमी की अर्ध रात्रि में पवित्र होकर, पवित्र स्थान में एकांत में कम्बल के आसान पर बैठकर धुप और दिप जलाये.

फिर आम के पट्टे पर गुलाल (लाल) बिछा देते है और अनार की कलम से गुलाल के ऊपर कर्णपिशाचिनी का मंत्र लिखते है. उसके बाद उसे हाथ की तलहथी से मिटाकर मस्तक से लगा लेते है. इस तरह 108 बार लिखना है और मिटाकर मस्तक से लगाना है.

फिर दूसरी रात में यही नियम करना है और लगातार 21 दिन तक यही करते रहना है. 21 वे दिन रात में मंत्र 107 बार ही लिखना और मिटाना है. 108 व मंत्र पट्टे पर लिखकर उसके ऊपर 11 ऊँ कर्णपिशाचिनी नम: 11 मंत्र से जल, अक्षत, फूल, मिठाई (लड्डू) धुप दिप के द्वारा पूजन करना है.

पूजन करने के बाद पट्टे को उठाकर सिरहानी के निचे रखकर सो जाए. सोने से पहले अपना प्रश्न पट्टे को सूना दें फिर सिरहाने निचे रखे तो आपके मुंह मांगे सवालो के जवाब कर्णपिशाचिनी जी स्वप्ना में आकर बताएंगी और आपकी समस्या का समाधान मिल जायेगा.

कर्णपिशाचिनी का मंत्र है :

एक और विचित्र और दुलभ प्रयोग बताते है. शेह जिसे शाही चिड़िया भी बोलते है उसके दो कांटे मंगवाए! जंगली सूअर का एक दांत लें. इनके ऊपर आगे कहा गया मंत्र एक लाख बत्तीस हजार बार जप लें. यह जप 41 दिन में पूरा हो जाना चाहिए. जप रात के समय पवित्र स्थान में पवित्र होकर ही करें और शनिवार से यह प्रयोग शुरू करे.

आसान पर बैठकर शाही चिड़ियाँ का कांटा और सूअर के दांत के आगे में एक ताम्बे के प्लेट में रख लें. धुप और दीपक जलाये. मंत्र पढ़कर प्लेट में फूंक मारे 41 दिन में सिद्धि मिल जाएगी.

जब प्रयोग करना हो तो दोनों वस्तु यानी शाही चिड़ियाँ का कांटा और सूअर का दांत दोनों को प्लेट से उठाकर 11 बार मंत्र द्वारा अभिमंत्रित कर अपना प्रश्न सुनाये फिर उसे कान से लगावे, टेलीफ़ोन की तरह आपके प्रश्नो का उत्तर आपको मिल जायेगा.

मंत्र है :

अब बात करते है स्वप्न में प्रश्नो का उत्तर बताने वाली मातंगी सिद्धि के बारे में.

महामाया मातंगी सिद्धि स्वयं एक अद्भुत चमत्कारी मंत्र है. यह शीघ्र प्रभावी शक्ति है. जिनका मंत्र इस तरह है :-

मंगलवार के दिन निराहार व्रत रखें. रात को दिए गए मंत्र धुप दिप जलाकर 108 बार जप करे. फिर मीठा भोजन करके शुद्ध बिस्तर पर सो जाए. यह क्रिया मंगलवार से लेकर 11 दिन तक करते रहे. इसके बाद प्रश्न उत्तर पाने के लिए किसी भी रात में इस मंत्र का 108 बार जप करके सो जाए, भगवती मातंगी स्वप्न में आकर आपके प्रश्नो का उत्तर दे जाएंगी.

अब बात करते है वाराही देवी सिद्ध मंत्र के बारे में.

मंत्र :

बताये गए इस मंत्र का शनिवार की रात में ही जप शुरू करे और चारपाई पर बैठे-बैठे ही ग्यारह सौ बार जप करे तो ग्यारह दिनों के भीतर ही साधक को अपने स्वप्न में उत्तर मिलने लगते है. लेकिन जप, रात में लगातार करते रहना है और नाहकर, पवित्र होकर पवित्र बिस्तर पे करना है.

अब बताते है योगिनी सिद्ध मंत्र के बारे में

इसके लिए आप सबसे पहले गेहूं का आटा सवा सेर की मात्रा में लें फिर उसमे सवा पाव गाय का घी और सवा पाव चीनी मिलाकर भून लें. यह क्रिया शुक्रवार की रात को करे या शनिवार की सुबह के समय करे. सामग्री लेकर शनिवार वाले दिन वन प्रान्त में चले जाए यानी जंगल में जहाँ चींटियों के बिल हो, अब आप चींटियों के बिल पर आगे कहा गया मंत्र बोलते हुए यह सामग्री थोड़ी-थोड़ी डालते जाए.

मंत्र है :

यह क्रिया वन में घूमते हुए करे और इतना घूमे की थक जाए. जब साड़ी सामग्री समाप्त हो जाए और आप चलते-चलते खूब थक जाए तो वहीँ किसी वृक्षं के निचे सौ जाए. नींद लगने पर आपको वहां पर एक स्त्री साक्षात् दिखाई देगी और उनसे आप अपने प्रश्नो के उत्तर पा लेंगे.

अब हम पांचवे मंत्र के बारे में बताते है.

रविवार की आधी रात में सरसों के तेल का एक दीपक जलाये. एक फूटी कोड़ी दीपक में डाल दें. इसके बाद आगे कहा गया मंत्र 1100 बार जपे. यह कार्य करके एक लाल कनेर का पुष्प लें. इन पुष्पों को,

मंत्र से 108 बार पढ़कर अभिमंत्रित करे लें. इसके बाद एक ताम्बे की डिब्बी में यह पुष्प भरकर तकिये के निचे रख कर सौ जाए. इसको तकिये के निचे रखने से पहले इस डिब्बी को अपना प्रश्न कह दें. भगवान मणिभद्र स्वप्न में आपके प्रश्नो के उत्तर दे देंगे.

कुछ बाते बताना चाहूंगा जिनका ख्याल आपको इनमे से किसी भी प्रयोग को करने पर रखना है.

  1. पहली बात : प्रयोग करने से पहले स्नान करे और उसके बाद धुले हुए, साफ़ कपडे पहने.
  2. दूसरी बात : बैठने के लिए आप जिस भी वस्तु का प्रयोग करे उसका भी पवित्र होना जरुरी है
  3. तीसरी बात : जिस स्थान पर प्रयोग करे वह स्थान एकांत में हो, कोई आपको टोंक न सके और वह स्थान पवित्र भी होना चाहिए. आप स्थान को धोकर गौ मूत्र आधी से स्वच्छ पवित्र कर ले.
  4. चौथी बात : आप अपने प्रयोग को गुप्त रखे, किसी को भी न बताये.
  5. पांचवी बात : हिचकिचाहट है तो प्रयोग को करने से पहले आप किसी गुरु से मार्गदर्शन अवश्य ले.

तो इस तरह आप इन बताये गए मन्त्रों से अपने सवालों के जवाब पा सकते है. अगर आप ऐसे सपनो से जुडी जानकारी और स्वप्न विज्ञानं के बारे में जानना चाहते है तो हमसे जुड़े रहे, इस साइट के सभी लेख पड़ें तो आपको स्वप्न के बारे में बहुत कुछ ज्ञान हो जायेगा.

Sending
User Review
0 (0 votes)
हमने सपनो के विज्ञानं के बारे में काफी कुछ सीखा है, काफी समय इनके अर्थ जानने में लगाए आज हमे इसके बारे में काफी कुछ मालुम है। हम चाहते है की हमें जो मालूम है उससे लोगों को लाभ हो, हम उनकी मदद कर सके, बस इसीलिए आपके समक्ष यह वेबसाइट बनाई है। इसमें हमे आपकी मदद की जरुरत है वो यह की आप इन Posts को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsaap के Group में और अपने दोस्तों को भेजे ताकि इस जानकारी का सभी लाभ उठा सके - धन्यवाद। जरूर शेयर करे।