sapne aane ke karan, sapne aane ke karan in hindi

सपने आने के कारण आखिर हमे सपने क्यों दिखाई देते है

आइये जानते है इंसान को सपने क्यों आते है, रात और दिन को सपने आने का कारण क्या होता है ? जिस तरह हर एक व्यक्ति को नींद आती है ठीक वैसे ही हर एक व्यक्ति को नींद में स्वप्न भी आते है.

इनमे से कुछ स्वप्न सिर्फ आपके विचारों, कामनाओ, वासनाओ के प्रभाव से आते है वही कुछ सपने हकीकत से जुड़े हुए होते है और वह भविष्य के बारे में संकेत देते है.

यहां इस दुनिया में हर चीज किसी न किसी कारण से होती है, बिना कारण के यहां पेड़ का एक पत्ता भी नहीं हिलता ठीक वैसे ही हमे सपने भी किसी न किसी कारण से आते है.

इसलिए हमे इनको फालतू, निर्थक समझकर नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. हमे अच्छे बुरे सपने बहुत आते है, यह सामान्य है सभी को आते है कई लोगों को ज्यादा सपने आते है, बार बार सपने आते है आदि। चलिए आगे पढ़ते है sapne kyo aate hai (karan) in Hindi में.

ऐसा कहा जाता है की हम दिन में जागते हुए जिन चीजों के बारे में ज्यादा सोचते है और जो चीजे हम दिन में नहीं कर पाते वही चीजे अधूरी वासना के रूप में स्वप्न में आती है या यूं कहे स्वप्न का रूप ले लेती है.

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप पिछले पोस्ट भी जरूर पड़ें उसमे बौद्ध धर्म के अनुसार सपने देखने का कारण बताया गया है, सपनो के बारे में अच्छे से जानने और समझने के लिए आप उसे भी जरूर पड़ें

सपने क्यों आते है

sapne aane ke karan, sapne aane ke karan in hindi

मनुष्य लगातार कई तरह के संकल्प, विकल्प, मनन, चिंतन, मोह, शोक, इच्छा और आकांशा करता ही रहता है. इनमे से कुछ संकल्प, कुछ इच्छाए, वासनाए, कामनाए, लालसाये और आकांक्षाए पूरी भी हो जाती है लेकिन कुछ पूरी नहीं हो पाती, अपूर्ण अधूरी ही रह जाती है.

इसलिए कई बार इंसान सपने में वह चीजे देखता है जो वह जाग्रत अवस्था में देखना चाहता था या वो चीजे जाग्रत अवस्था में करना चाहता था.

मनुष्य के मन में दिन भर कई तरह के विचार और भावनाये उठती रहती है, वह इनमे से कई भावनाओ को बाहर नहीं निकाल पाता अंदर ही यह दबी रह जाती है.

ऐसी ही मन में दबी हुई वासनाये, कामनाये सपनो का रूप लेकर बाहर निकलती है, इसीलिए मनुष्य जो जाग्रत अवस्था में नहीं कर पाता वही वो नींद की अवस्था में सपने में कर लेता है.

जैसे सपने में कोई विशेष पकवान खाना, किसी लड़की से मिलना, सपने में सम्भोग करना आदि यह सपने हमारी अधूरी कामना, अधूरी वासना को बताते है जो की हम जाग्रत अवस्था में नहीं कर पाते है.

विज्ञानं ने एक रिसर्च में यह पता लगाया है की सिर्फ इंसान ही नहीं जानवर भी सपने देखते है.

  • हमारा मस्तिष्क भी दिल की तरह कभी काम करना बंद नहीं करता वह चलता ही रहता है, जब हम सो जाते है तब भी वह कार्यशील रहता है तभी तो हमे नींद में सपने दिखाई देते है.

सपने आने के कारण क्या है

तो एक तो सपने आने के कारण में पहली बात तो यह है की एक तो अधूरी कामना, अधूरी वासना, अधूरी भावना आदि जो हम जाग्रत अवस्था में पूरी नहीं कर पाते वह स्वप्न बनकर आती है.

दूसरे तरह के स्वप्न होते है जो भविष्य के बारे में संकेत देते है. ऐसे सपने बहुत कम ही आते है और कई बार हम इन्हे देख कर अचंभित भी हो जाते है की “ये कल ये कैसा सपना आया था” लेकिन उसके अर्थ के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होने के कारण (swapna karan) हम उसे छोड़ देते है.

तो इस तरह एक तो भविष्य और हमारे जीवन से जुड़े सपने हमे आते है और एक हमारी अधूरी वासना और अधूरी कामना के वजह से स्वप्न आते है.

शास्त्रों में बताया गया है की दिन में देखे गए सपनो का कोई अर्थ नहीं होता, वह निर्थक होते है. इसलिए अगर आप दिन के सपने से व्याकुल है तो घबराये नहीं वह सिर्फ आपके मन का काल्पनिक दृश्य है.

कभी कभी मनुष्य की तात्कालिक मानसिक अवस्था भय आशंका आदि के कारण भी स्वप्न दिखाई पड़ जाय करते है जैसे अगर यात्रा करनी है तो सपना दिखाई पड़ता है की गाडी छूट गई या छूट रही है, परीक्षा देनी हो तो दिखाई पड़ता है की में देर से परीक्षा भवन में पहुंच रहा हूं या परीक्षा से जुड़े सपने दिखाई पड़ते है इस तरह मन की अनेक आकांक्षाए सपनो में अलग अलग तरह से मूर्त होने लगती है.

एक रिसर्च में यह साफ़ हो चूका है की हर एक व्यक्ति प्रत्येक रात में कम से कम पांच बार सपने देखता है. इनमे से प्रत्येक सपना दस से तिस मिनट तक का होता है और एक से डेढ़ घंटे के अंतराल में वह नया स्वप्न देखता है. पोस्ट को पूरा पड़े सपने दिखाई क्यों देतेहै कारण जाने.

कई बार सपने सच भी होते है

हमारा मन भी इस विश्व का एक अंग ही है इसीलिए कभी कभी भविष्य में होने वाली घटनाए भी स्वप्न में दिखाई पड़ जाती है. आज कल के मनोवैज्ञानिकों, मनोविश्लेषण शास्त्रियों ने सपनो पर बहुत से रिसर्च करके मानव जीवन में स्वप्न का बड़ा महत्त्व माना है.

इस बारे में उन्होंने कहा भी है की मनुष्य बहुत सी (मन में दबाई वासना, विचार) जिसे दमन कहते है, ऐसी दमन की हुई काम वासनाए, इच्छाए, संकल्प और द्वन्द सब स्वप्न में अभिव्यक्त हो उठते है.

इन सपनो में कभी कभी अपने प्रिय व्यक्तियों के कई सन्देश भी प्राप्त हो जाते है, संकेत प्राप्त हो जाते है की यह वस्तु उस जगह पर रखी है, या किसी दोस्त के साथ या हो रहा है, वह बीमार है, दुखी है आदि ऐसे कभी कभी हमे सपने आजाते है और यह सच भी निकलते है.

कई बार हम इन सपनो को याद नहीं रख पाते जब सुबह उठते है तो वह याद ही नहीं रहते है, लेकिन असल में ऐसा होता है.

सोने और जागने के बिच की अवस्था को स्वप्न अवस्था कहते है, यह सोने से पहले और जागने से पहले आती है.

जाग्रत, स्वप्न, सुषुप्ति और तुरिया अवस्था इन चारों अवस्थाओं में से सिर्फ स्वप्न अवस्था ही ऐसी है जिसमे मन पूरी तरह से आजाद होता है, कुछ भी करने को, कहीं भी भ्रमण करने को मुक्त रहता है बाकी की तीनो अवस्थाओं में मन नियंत्रित रहता है खासकर जाग्रत अवस्था में.

sapne kyo aate hai, sapne kyo aate hai in hindi

मन के दमन के कारण भी सपने दिखाई देते है

मन मनुष्य के अपने परंपरागत संस्कार, भय, शालीनता, लोग क्या कहेंगे और सामाजिक नियम के कारण वह अपने सभी संकल्पो इच्छाओ और वासनाओ को तृप्त नहीं कर पाता और जाग्रत अवस्था में सतर्क रहता है.

लेकिन जब नींद के समय जाग्रत अवस्था आराम करने लगती है और स्वप्न अवस्था आने लगती है तो मन को पूरी छूट मिल जाती है फिर वह अपनी मर्जी से विचार और मस्तिष्क में भ्रमण करता है और सूक्ष्म शरीर के माध्यम से अपनी दबी वासनाओ और इच्छाओ को स्वप्न के माध्यम से तृप्त करता है.

मन सिर्फ इस जन्म की वासनाओ को ही नहीं बल्कि पुराने जन्मको की वासनाओ और दृश्यों में भी कई बार भ्रमण करता है.

कई वैज्ञानिक पुराने जन्मो के अस्तित्व की बात को नहीं मानते लेकिन कई बार हमे ऐसे सपने आते है जिनका हमारे इस जीवन या इस जीवन से कोई ताल्लुक भी नहीं होता.

अच्छे बुरे सपने आने का कारण

आप विश्वाश करे या न करे लेकिन जितना ज्यादा ध्यान आप अपने सपनो पर देंगे और अध्यन करेंगे आपको उनमे उतनी ही अधिक सच्चाई मिलती जाएगी. आप पाएंगे की जो सपने आपने देखे है वह भविष्य के बारे में बहुत सही संकेत देते है.

हमे सपने क्यों आते है हम सपने को देखते है यह सभी आप समझ ही गए होंगे यह सभी मन की अधूरी वासना और भविष्य में होने वाली घटनाओ को दर्शाते है.

कौन से सपने सही होते है और कौन से व्यर्थ

  • सपनो के बारे में निम्नलिखित बाते ध्यान से पड़े, कौन से सपने सही होते है और कौन से व्यर्थ.
  1. रुग्णावस्था में देखे गए सभी सपने व्यर्थ होते है.
  2. मादक द्रव्यों का सेवन कर नींद में सपने देखना व्यर्थ होता है.
  3. दोपहर में देखे गए सपनो का कोई फल नहीं मिलता है.
  4. रात के पहले पहर में देखे गए सपने व्यर्थ होते है.
  5. रात के दूसरे पहर में देखे गए सपने आधे सच और आधे व्यर्थ होते है.
  6. रात के आखिरी पहर यानी सुबह के समय देखे गए सपने ज्यादातर सच निकलते है.
  7. रात में सपने आने के बाद नींद खुल जाये और वापस आप सो जाए तो ऐसा माना जाता है की
  8. ऐसा करने से स्वप्न का दोष टल जाता है उसका प्रभाव खत्म हो जाता है.

सपने कई हजारो तरह के होते है. जिन सपनो को देखकर नींद तत्काल टूट जाती है उनका कोई फल नहीं होता है. आधे अधूरे सपनो पर भी विचार करना, उनका फल देखना व्यर्थ होता है. सुबह के समय नींद टूटने पर जो स्वपन याद रहे उसका ही उचित फल मिलता है.

देखे गए सपनो की चर्चा किसी से नहीं करनी चाहिए व चुपचाप उसका फल देख लेने ठीक होता है. इससे स्वप्न का शुभ प्रभाव बना रहता है – नेपालगुरु के अनुसार व अन्य स्वप्न शास्त्रों के अनुसार.

ऐसे कई उपाय होते है जिनसे बुरे डरावने सपने आने से रोका जा सकता है और बुरे देखे गए सपनो के फल को कम किया जा सकता हो. हम जल्द ही ऐसे उपाय भी आपको बताएंगे.

स्वप्न हर एक व्यक्ति को आते है, ऐसा कोई नहीं जिसे सपने न आते हो. हमने आपको हमे सपने क्यों आते है स्वप्न क्यों दिखाई देते है  इन हिंदी में इस बारे में आपको पूरी जानकारी बताई है.

इसके अलावा ज्यादा और achhe bure sapne aane ke karan in Hindi में बताये है. यह पूरी साइट ही सपनो के बारे में है आप हमसे जुड़े रहे और आपने सपनो के बारे में जानते रहे क्योंकि हर एक सपना कुछ कहता है. अन्य पोस्ट भी जरूर पड़ें.

अगर आपको सपने याद नहीं रहते तो हमेशा तनाव मुक्त होकर सोये और सुबह अलार्म सेट नहीं करे. बिलकुल फ्री होकर सोये तो आपको सपने याद रहेंगे और नींद भी गहरी अच्छी आएगी.

हमने सपनो के विज्ञानं के बारे में काफी कुछ सीखा है, काफी समय इनके अर्थ जानने में लगाए आज हमे इसके बारे में काफी कुछ मालुम है। हम चाहते है की हमें जो मालूम है उससे लोगों को लाभ हो, हम उनकी मदद कर सके, बस इसीलिए आपके समक्ष यह वेबसाइट बनाई है। इसमें हमे आपकी मदद की जरुरत है वो यह की आप इन Posts को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsaap के Group में और अपने दोस्तों को भेजे ताकि इस जानकारी का सभी लाभ उठा सके - धन्यवाद। जरूर शेयर करे।

1 Comment

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!