ramayana sunna in hindi dream

सपने में रामायण दिखना, पढ़ना या सुनने का मतलब क्या होता है

रामायण एक ऐसा ग्रन्थ है जिसको अगर कोई व्यक्ती ठीक से पढ़े और उसे ठीक से समझे तो वह इस दुनिया को जित सकता है. हिन्दू धर्म ग्रंथों में आज जो हो रहा है यह सब भी लिखा हुआ है, इनमे से कई ग्रन्थ आज खो भी चुके है.  भविष्य में कैसे लोग होंगे कैसे दिन आएंगे ऐसा सब उनमे बताया गया है. ऐसे महान है हिन्दू धर्म के ग्रन्थ, जो ऋषि मुनियों की हजारों सालों की तपस्या है.

यहां हम जानेंगे सपने में रामायण देखना कैसा होता है इसके बारे में सारी बाते जैसे की रामायण पढ़ना या सुनना किताब आदि देखने के मतलब के बारे में. हम यह सब बताने से पहले थोड़ा रामायण और स्वप्न के बारे में कुछ चर्चा करना चाहेंगे, जो की हम जरुरी समझते है की हर एक व्यक्ति को पता होना चाहिए.

ramayana sunna in hindi dream

रामायण में सपनो के सच होने के बार में किस्से सुनने को मिलते है, कई व्यक्ती कहते है की सपनो का हमारे जीवन पर कोई असर नहीं होता है लेकिन यह गलत है, जब की सपने हमारे जीवन के बारे में संकेत देते है, हाँ यह सच है की सभी सपने असर नहीं करते लेकिन जो शुद्ध सपने होते है वह असर करते है.

रामायण में जब राजा दशरथ जी की मृत्यु होती है तब राम वनवास में होते है और उन्हें उसी रात में एक सपना दिखाई देता है जिसमे वो अपने पिता दशरथ को दक्षिण दिशा जाते हुए देखते है. राम जब सुबह उठते है तो चिंतित हो जाते है ऐसे में सीता मां उनसे इस बारे में पूछती है, तब राम रात को देखे गए सपने के बारे में बताते है. तभी फिर बाद में उन्हें खबर लगती है की उनके पिता का स्वर्गवास हो गया है.

जब राजा दशरथ की मृत्यु हुई थी, उस समय भरत भी अयोध्या में नहीं थे और उन्हें भी राजा दशरथ से जुड़े और अन्य बुरे सपने आये थे इसका जिक्र रामायण में मिलता है. इस तरह से व्यक्ती का हृदय जितना शुद्ध होता है, मन जितना पवित्र होता है उसे वैसे-वैसे जीवन में आगे होने वाली घटनाओ के संकेत सपनो में मिलने लगते है.

जब माता सीता लंका में थी तब त्रिजटा नाम की राक्षसी स्त्री उनके समीप ही रहती थी, एक दिन त्रिजटा को सपना आया की रावण का सिर, बाहें कट गई है और वह दक्षिण दिशा की तरफ जा रहा है. अंत में त्रिजटा का सपना भी सच हुआ, यह हम सब जानते है. अब आगे हम जानेंगे अपने स्वप्न में रामायण देखने का मतलब किस तरह का होता है.

आगे जानने से पहले सबसे पहले हम आपको यह बताना चाहेंगे की अगर आपको जिस रात यह स्वप्न आया उन दिनों क्या आपने रामायण के बारे में किसी तरह का सोच विचार किया था, क्या आपने रामायण देखि थी या आपने कही किसी के मुँह से रामायण का जिक्र सुना था. अगर आपने इनमे से कुछ किया था और फिर आपको स्वप्न में रामायण सुनना या पढ़ना आदि दिखाई दिया हो तो इस स्वप्न का आपके जीवन पर कोई असर नहीं होगा. क्योंकि यह स्वप्न सोच विचार से पैदा हुआ है.

वही अगर आपने रामायण के बारे में कोई बात उन दिन में नहीं की हो और फिर रामायण से जुड़ा कोई ऐसा सपना आपको आया हो जो की आपने सोचा भी नहीं था और न उस बारे में विचार किया था तो यह जरूर आपके जीवन पर असर करेगा, यह कुछ न कुछ संकेत जरूर लेकर आया है.

सपने में रामायण देखना

रामायण होते हुए देखना शुभ होता है, कुछ अर्थों में यह संघर्ष के बाद सफलता मिलने को दर्शाती है. इसके अलावा यह जातक के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव करती है, व्यक्ति के अंदर गुणों की वृद्धि होती है, व्यक्ती के जीवन के दुःख दूर होंगे. (स्वप्न में रामायण की किताब (book) देखने पर भी यही फल प्राप्त होते है).

अगर कोई व्यक्ति किसी परेशानी में उलझा हुआ है, वह निराश है, हताश है और ऐसे में रामायण का स्वप्न देखता है तो यह स्वप्न दर्शाता है की व्यक्ती को अपनी परेशानी खत्म करने का मौका जरूर मिलेगा लेकिन उसे इसके लिए संघर्ष करना होगा.

सीधे अर्थों में रामायण होते देखना यानी संघर्ष+सफलता=विजय, यह सत्य की विजय, साहस नहीं खोना, हिम्मत नहीं हारना और अंत में आप जीतेंगे, अंत में आपको सफलता मिलेगी ऐसा यह संकेत करती है.

वही अगर कोई व्यक्ती नया कार्य शुरू करने जा रहा हो और वह उसे लेकर बेचैन हो और ऐसे वह रामायण का स्वप्न देखता है तो व्यक्ती को अपना कार्य प्रारम्भ कर देना चाहिए. व्यक्ति का कार्य खूब प्रगति करेगा लेकिन उसमे संघर्ष करना पड़ेगा, सफलता उन्हें पूरी मिलेगी लेकिन संघर्ष पहले करना होगा.

सपने में रामायण पढ़ना या सुनते देखना

अगर कोई व्यक्ती सपने में रामायण सुनना या पढ़ना या खुद पढ़ते हुए देखता है तो यह भी बहुत शुभ होता है. यह व्यक्ति के अंदर सकारात्मक गुणों को बढ़ाता है, ज्ञान की प्राप्ति करवाता है. इसके अलावा अगर कोई व्यक्ती जिसके जीवन में ज्यादातर कुछ न कुछ परेशानियां आती ही रहती है या उसे अपने जीवन में सुकून नहीं मिलते दीखता हो तो ऐसे में यह रामायण सुनते देखना या पढ़ने का सपना दिखाई देता है तो व्यक्ती को घर में रोजाना रामायण का पाठ शुरू करना चाहिए.

अगर व्यक्ति पूजन पाठ करके रामायण का नियम से पाठ करे, जरुरी नहीं की ज्यादा पड़ें वह चाहे तो दो चार श्लोक का पाठ कर सकता है इसमें 5 मिनट भी नहीं लगते, अगर आपके पास समय हो तो आप 10 मिनट रोज पढ़ना शुरू करे या एक पेज रोजाना पढ़ना शुरू करे. देखते ही देखते आपके जीवन से वह सभी समस्याए ख़त्म होने लगेंगी और घर में सकारात्मक ऊर्जा भी बढ़ेगी.

जो व्यक्ती रोजाना रामायण का पाठ करता है उसको गृह पीड़ा और दरिद्रता नहीं सताती घर में सुख शांति बनी रहती है. अगर आप पूजन से व नियम से पाठ शुरू करते है तो ध्यान रहे जब रामायण पूरी हो जाए तो उसका किसी पंडित से मिलकर पूरी पूजा करे और पंडित को भोजन आदि जो विधि विधान है उसे अपनाये. इसके लिए आप अपने नजदीकी पंडित से जानकारी प्राप्त कर ले की मुझे रामायण शुरू करना है.

इस तरह से यह शुभ फल देती है, आप ऐसा न समझे की आपको संघर्ष करना पड़ेगा, बल्कि यह तो आपको यह संकेत देती है की अगर आप संघर्ष करेंगे तो जित आपकी ही होगी, यह दर्शाता है की आप हार नहीं माने डटे रहेंगे तो जित आपकी ही होगी.

उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट sapne mein ramayana dekhna padhna sunna matlb को पढ़कर अच्छा लगा होगा, इसके अलावा हमने राम भगवान के बारे मे भी बताया है आप उस पोस्ट को भी पढ़ सकते है. बाकी आपको स्वप्न में रामायण कैसे दिखाई दी थी, किस रूप में किताब या अन्य रूप में कैसी दिखी थी यह आप कमेंट के जरिये हमे बता सकते है. और अगर आपको कोई डाउट हो तो वह भी कमेंट के जरिये हमसे क्लियर कर सकते है.

हमने सपनो के विज्ञानं के बारे में काफी कुछ सीखा है, काफी समय इनके अर्थ जानने में लगाए आज हमे इसके बारे में काफी कुछ मालुम है। हम चाहते है की हमें जो मालूम है उससे लोगों को लाभ हो, हम उनकी मदद कर सके, बस इसीलिए आपके समक्ष यह वेबसाइट बनाई है। इसमें हमे आपकी मदद की जरुरत है वो यह की आप इन Posts को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsaap के Group में और अपने दोस्तों को भेजे ताकि इस जानकारी का सभी लाभ उठा सके - धन्यवाद। जरूर शेयर करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!