sapne me shani mandir murti photo dekhne ka matlab

सपने में शनि देव को देखना 16 शुभ या अशुभ मूर्ति, मंदिर पूजा

क्या होता है सपनो में शनि देव का आना ? क्या यह बुरे वक्त के आने की खबर होती है या उनके प्रसन्न होने का संकेत आइये जानते है. शनि महाराज को लेकर सभी व्यक्तियों में बहुत भय बना हुआ होता है, कही भगवान शनिदेव नाराज न हो जाए इसके लिए कई उपाय भी करते है उन्हें तेल चढ़ाना हर शनिवार को मंदिर जाना आदि.

हर एक व्यक्ति के अंदर शनि देव को लेकर एक क्रोध और निरदई की भावना बनी हुई होती है लेकिन ऐसा नहीं है शनि देव सिर्फ बुरे कर्म करने वालों को ही सताते है, इसलिए हर किसी व्यक्ति को उनसे भयभीत होने की कोई जरूरत नहीं है.

sapne me shani mandir murti photo dekhne ka matlab

हम यहां जानेंगे सपने में शनि देव को देखना कैसा होता है जब किसी व्यक्ति को शनिदेव के दर्शन स्वप्न में हो जाए तो व्यक्ति वैसे ही ओर संकोच से भर जाता है. मन में एक तरह का डर पैदा हो जाता है. क्योंकि एक तो पहले से ही शनि देव का इतना डर मन में बसा हुआ होता है और ऐसे में जब वह सपने में भी दिखाई पड़ जाए तो मन विचलित हो जाता है. किसी को शनिदेव की पूजा करना, किसी को शनि देव को तेल चढ़ाना तो किसी को शनि मंदिर या मूर्ति दिखाई पड़ती है.

सपने में शनि देव को देखना क्या मतलब है

वैसे शनि देव को देखना शुभ और अशुभ दोनों होता है, यह निर्भर करता है की आपको शनिदेव सपने में किस रूप में और कैसी अवस्था में दिखाई दिए थे. इसके अलावा यह जानना भी बेहद जरुरी है की जब आपको शनिदेव का स्वप्न आया था तब आपके जीवन में कैसी स्थिति थी, क्या आपको शनि के साढ़ेसाती लगे हुए थे, क्या आप शनि भगवान की आराधना करते है आदि इन सभी से सपने के सटीक अर्थ को समझा जा सकता है.

अगर आप शनि महाराज की पूजा करते है और ऐसे में अगर आपको शनि देव दर्शन देते है तो यह शुभ होता है, शनि देव का मंदिर, उनकी पूजा करना या उनको तेल चढ़ाना उनकी मूर्ति देखना आदि शुभ होते है लेकिन शनिदेव के कुछ सपने है जो की अशुभ फल देते है. तो आइये अब आगे जानते है सपने में शनि देव को देखने का मतलब क्या है इसका फल क्या मिलेगा.

शनि भगवान के सपने ज्यादातर तब आते है जब किसी को शनि की साढ़ेसाती चल रही होती है या साढ़ेसाती चलने वाली होती है. ऐसे में स्वप्न में शनि देव के दर्शन होने पर व्यक्ति को खुद को खुशकिस्मत समझना चाहिए और शनि देव की आराधना शुरू कर देना चाहिए.

जब शनि देव कौवे पर सवार दिखाई दें तो यह शुभ नहीं होता, कौवे शनि देव की सवारी होती है लेकिन शनिदेव को कौए पर बैठे हुए सपने में देखना अशुभ होता है. यह स्वप्न बहुत से अशुभ फल देता है और व्यक्ति के जीवन की शांति छीन लेता है. ज्योतिष की गणना के अनुसार इस तरह शनि देव को कौए पर सवार देखने का मतलब है की व्यक्ति के जीवन में शांति भंग हो जाएगी, उसके जीवन में कुछ न कुछ ऐसा होगा जिससे की जीवन अस्त व्यस्त हो जायेगा.

ऐसा सपना देखने पर व्यक्ति के घर परिवार पर भी अशुभ असर पड़ता है, गणना के मुताबिक परिवार में मतभेद पैदा होते है, राह चलते, बातों बातों में ही वैचारिक मतभेद पैदा हो जाते है.

इतना ही नहीं कौए पर बैठे देखना इतना अशुभ है की यह समाज में भी मान सम्मान को ठेस पहुंचाता है. जब किसी व्यक्ति को शनि देव कौए पर बैठे दिखाई दे तो समझे की उस व्यक्ति से शनिदेव अप्रसन्न है, शनि देव उसको अशुभ फल दे रहे है. ऐसे में व्यक्ति को शनि देव की कृपा पाने के लिए, उन्हें प्रसन्न करना चाहिए और नियमित रूप से शनि देव की आराधना करना चाहिए.

Sapne Mein Shani Dev Ko Dekhna Matlab

अगर किसी व्यक्ति को शनि देव हाथी पर सवार दिखाई दें तो यह बहुत शुभ शकुन माना होता है. यह स्वप्न व्यक्ति का बहुत ही अच्छे फल देता है और व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाता है. इसके अलावा अगर किसी व्यक्ति को साढ़े साती लगे हुए है और ऐसे में उसे शनि देव हाथी पर सवार दिखाई दें तो यह बहुत शुभ फल देते है.

ऐसा सपना बड़े ही सौभाग्य का सूचक होता है, व्यक्ति को धन लाभ, मान सम्मान और घर में खुशहाली दिलवाता है. शनि चालीसा में यह बताया गया है की जब शनि देव हाथी पर सवारी करते है तो वह धन लाभ जरूर करवाते है. कुछ ही चुनिंदा शास्त्रज्ञों के अनुसार साढ़े साती में शनि देव हाथी पर सवार दिखाई दें तो वह इसे अशुभ मानते है लेकिन ऐसा कही देखने में नहीं आया है, इसलिए आप निश्चिंत रहिये.

ठीक ऐसे ही जब किसी व्यक्ति को शनि देव मौर पर सवार दिखाई दें तो इसका मतलब भी बहुत शुभ होता है और यह खूब आनंद दिलवाता है. जिस भी व्यक्ति को शनि देव मौर की सवारी करते हुए दिखाई देंगे उसको शुभ फलों की प्राप्ति जरूर होगी, यह पूरी तरह से लाभ देने वाला स्वप्न होता है और व्यक्ति को किसी न किसी तरह से शुभता प्रदान करता है

जैसे अचानक धन आना, अटका हुआ काम हो जाना, वाहन लेना आदि यह किसी न किसी रूप में अच्छे फलों की प्राप्ति करवाता है. इसके अलावा अगर किसी को शनि साढ़ेसाती लगी हुई है और उसे शनिदेव मौर पर सवारी करते हुए दिखे तो यह उसको कही न कहीं से शुभ समाचार की प्राप्ति जरूर करवाते है, साढ़ेसाती में ऐसे स्वप्न आने पर व्यक्ति को खुशियां मिलती है. इस तरह से शनिदेव भगवान को देखना शुभ होता है.

यमराज के अलावा भैंसा भी शनि देव का वाहन होता है, जब किसी व्यक्ति को शनिदेव भैंसे पर सवार दिखाई दें तो यह एक तरह का संकेत होता है, आपको जल्द ही शनिदेव की आराधना शुरू कर देना चाहिए. शनिदेव को भैंसे पर सवार देखने पर आपको किसी तरह का नुकसान भी हो सकता है.

घोड़ा भी शनि भगवान का वाहन होता है, जब किसी व्यक्ति को भगवान शनि देव घोड़े पर सवार दिखे तो यह बहुत शुभ होता है. यह सुख और संपत्ति की प्राप्ति करवाता है, व्यक्ति के जीवन की परेशानियों को ख़त्म करता है. शिव चालीसा में इस बारे में बताया गया है की घोड़े पर सवार दिखने पर सुख और संपत्ति की भरपूर प्राप्ति होती है.

शनि देव को गिद्ध पर बैठे हुए देखना शुभ नहीं माना जाता है, यह अशुभ होता है और इसको देखने पर अशुभ फलों की प्राप्ति होती है. जब किसी व्यक्ति को शनि देव गिद्ध पर सवार दिखे तो इसका मतलब है की आपको कही से अशुभ समाचार देखने को मिल सकते है या किसी परिजन की मृत्यु भी हो सकती है. यह अपशकुन होता है, इसलिए इसके प्रभाव को ख़त्म करने के लिए शनि के उपाय जरूर करने चाहिए ताकि शनि के अशुभ फलों में कमी आये.

इसके अलावा गधे पर भी शनि भगवान सवारी करते है, अगर किसी व्यक्ति को शनि देव इस तरह गधे पर सवार दिखाई दें तो यह शुभ नहीं होता और अशुभ फलों की प्राप्ति करवाता है. जीवन में परेशानियां बढ़ना, काम असफल होना, बनते बनते काम रुक जाना आदि अशुभ फल आने लगते है. इनसे बचने के लिए शनि भगवान को इस तरह देखने पर शनि की शांति के उपाय जरूर करने चाहिए.

शनि देव की पूजा करना

सपने में शनिदेव की पूजा करना कैसा होता है ? यूं तो स्वप्न में किसी भी भगवान की पूजा करते हुए देखना भक्ति से लेकर देखा जाता है, ठीक वैसे ही शनिदेव की पूजा करते हुए देखना भक्ति को भी दर्शाता है. यह मिश्रित फल देता है, जब किसी व्यक्ति को ऐसे स्वप्न आये तो उन्हें तुरंत ही शनि देव की पूजा आराधना शुरू कर देना चाहिए, क्योंकि यह एक तरह से याद दिलाना होता है.

अगर आप पहले से ही शनि भगवान का पूजन करते आ रहे है तो समझे की आपकी पूजा आराधना से शनि देव प्रसन्न है. अगर आप अपने आप को किसी विशेष स्थान पर शनि देव का पूजन करते हुए देखे तो उस जगह पर आप दर्शन के लिए जरूर जाए.

शनि देव पर तेल चढ़ाना मतलब क्या है

भगवान शनि देव पर तेल चढ़ाना शुभ होता है, स्वप्नशास्त्र के मुताबिक यह शनि देव की प्रसन्नता का सूचक होता है. आप पर शनि देव प्रसन्न है, लेकिन ऐसे में व्यक्ति को यह स्वप्न देखने के बाद हर शनिवार को शनि देव पर तेल जरूर चढ़ाना शुरू कर देना चाहिए.

 

वही शकुन शास्त्र के अनुसार शनि देव पर तेल चढाने का मतलब है की आपको जल्दी ही शनि देव की पूजा व उन्हें तेल चढ़ाना शुरू कर देना चाहिए. यह शनि देव के खुश नहीं होने का चिन्ह होता है, लेकिन वह अभी आपको अशुभ फल देने नहीं लगे है इसलिए आप उन्हें प्रसन्न कर सकते है. तो यह स्वप्न आने पर शनि देव की भक्ति जरूर करे और तेल अवश्य चढ़ाये.

शनि देव का मंदिर देखना

सपने में शनि मंदिर जाना या देखना दोनों ही अच्छा होता है, ऐसा ज्यादातर तब होता है जब व्यक्ति शनि देव के मंदिर जाता था लेकिन फिर उसने जाना बंद कर दिया या वो जा नहीं पता हो किसी कारण से तो ऐसे में यह स्वप्न जरूर आता है. इसके अलावा मंदिर देखना शुभ ही होता है, इसे आप शनि देव को प्रसन्न करने का मौका समझे.

ऐसा स्वप्न आने के बाद व्यक्ति को खासकर शनिवार के दिन मंदिर जरूर जाना चाहिए. अगर व्यक्ति के जीवन में समस्याए आ रही है और ऐसे में शनि देव के दर्शन होते है तो आप खुद को खुशकिस्मत समझे और शनि भागवान की पूजा शुरू कर दें. आपकी यह सभी समस्याए ख़त्म हो जाएंगी.

शनि देव की मूर्ति देखना

इसके अलावा सपने में शनि देव की मूर्ति देखने का मतलब शुभ संकेत होता है, लेकिन ऐसे में व्यक्ति को शनि देव को शनिवार के दिन मंदिर जाकर उनकी पूजा आराधना जरूर करना चाहिए. जब शनि देव प्रसन्न होते है तो ऐसा व्यक्ति अशुभ फलो से तो बचता ही है बल्कि ऐसे में वह व्यक्ति बहुत लाभ भी प्राप्त कर लेता है.

अगर किसी व्यक्ति को शनि देव की टूटी मूर्ति दिखाई दें तो यह अशुभ फल दे सकती है. इस स्वप्न के अशुभ फल में व्यक्ति को भारी नुकसान होता है, यह शनि देव की नाराजगी का सूचक होता है ऐसे में व्यक्ति को शनि देव से अशुभ फलों की प्राप्ति होती है. अगर व्यक्ति पहले से शनि देव से या साढ़ेसाती से बहुत संकट उठा चूका है तो ऐसे में टूटी मूर्ति देखना उन संकटों के ख़त्म होने का सूचक होता है.

इस तरह से इस पोस्ट में sapne me shani dev ko dekhna, शनि देव को देखने का मतलब में आपने सभी सपनो से जुडी जानकारी प्राप्त कर ली होगी, इसके अलावा अगर आपको किसी बात पर या आपने जो स्वप्न देखा है उसको लेकर आपको कोई डाउट है तो आप कमेंट के जरिये हमसे क्लियर कर सकते है. शनि देव की पूजा करना या मंदिर देखना आदि सभी अच्छे ही स्वप्न होते है बाकी जो स्वप्न हमने अशुभ बताये है वही बुरा फल देते है.

जैसा की हमने ऊपर बताया है की शनि भगवान से जुड़े सपने साढ़ेसाती के समय ज्यादा आते है या तो साढ़ेसाती लगी हुई होती है या लगने वाली होती है. ऐसे में व्यक्ति को शनि भगवान की आराधना शुरू कर देना चाहिए. अगर रोज मंदिर नहीं जा सके तो कम से कम शनिवार के दिन शनि देव की मूर्ति पर तेल जरूर चढाने जाए.

हमने सपनो के विज्ञानं के बारे में काफी कुछ सीखा है, काफी समय इनके अर्थ जानने में लगाए आज हमे इसके बारे में काफी कुछ मालुम है। हम चाहते है की हमें जो मालूम है उससे लोगों को लाभ हो, हम उनकी मदद कर सके, बस इसीलिए आपके समक्ष यह वेबसाइट बनाई है। इसमें हमे आपकी मदद की जरुरत है वो यह की आप इन Posts को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsaap के Group में और अपने दोस्तों को भेजे ताकि इस जानकारी का सभी लाभ उठा सके - धन्यवाद। जरूर शेयर करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!