सपनो के रहस्य : 11 किस्से आप भी पढ़कर चौंक जायेंगे

sapno ka rahasya in hindi, sapno ke rahasya
Sending
User Review
4 (1 vote)

सपनो का रहस्य क्या है ? सपनो की सच्ची कहानियां यानी वह सपने जो नींद में देखने के बाद असली जीवन में सच साबित हुए। उन्ही के बारे में यह पूरी पोस्ट दी गई है। इसको पढ़ने के बाद आपको भी स्वप्ना रहस्य पर यकीन हो जाएगा और आप भी कहेंगे की हमे सपने यूंही नहीं आते और सभी सपने व्यर्थ के नहीं होते ।

क्या नींद में देखे गए सपने सच होते है, क्या आज तक किसी के सपने सच हुए है ? क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है, की आपने सपने में जो देखा ठीक वैसा ही कुछ दिनों के बाद आपके साथ हो गया हो। आपके साथ ऐसा हुआ हो या नहीं, लेकिन कई लोगों के साथ ऐसा हुआ है उन्होंने जो सपने में देखा था उनके साथ ठीक वैसा ही हुआ। real stories of dreams sapno ke rahasya in Hindi me read more.

यहां हम आपको ऐसे ही रहस्य और ऐसे किस्सों के बारे में बताने जा रहे है जो की सपने में देखने के बाद सच हुए थे। सपनो का रहस्य सच में बड़ा पेचीदा होता है, लेकिन अगर हम सपनो को ठीक से समझे तो भविष्य में होने वाली घटनाओ को पहले से ही जान सकते है।

sapno ka rahasya in hindi, sapno ke rahasya

सपने हमारे जीवन का अंग है लेकिन अभी तक हम उनके रहस्य को ठीक ठीक समझ नहीं पाए है। इस बारे में ज्यादातर वैज्ञानिक मानते है की सपने शारीरिक विकारों, गलत खान पान और दिन भर सोचने विचारने के वजह से आते है, उनका यह कहना कुछ हद तक सही भी है। क्योंकि हमे कई सपने ऐसे भी आते है जिनका हमारे जीवन पर कोई असर नहीं पड़ता वह बिलकुल व्यर्थ के होते है। लेकिन वही कुछ सपने ऐसे भी होते है जो की सच में हमारे भविष्य को प्रभावित करते है। इसलिए वैज्ञानिको की इस बात को पूरा सच नहीं कहा जा सकता।

भारत में कई सदियों से स्वप्न फल के कई ग्रन्थ पाए गए है, अगर हम किसी वृद्ध व्यक्ति को कहे की मुझे आज सपने में यह दिखा था तो वह तुरंत ही उसका कोई न कोई फल कह देंगे की शुभ है या अशुभ। ऐसे लोगों की मान्यता होती है की कोई दिव्य शक्ति मनुष्यों को सपनो के जरिये से उनके शुभ या अशुभ भविष्य के विषय में सुचना देती है।

हम नींद में देखे गए सभी सपनो को भविष्य के ज्ञान की कुंजी नहीं समझ सकते, क्योंकि हम जानते है की जिस दिन भोजन की अव्यवस्था से हमारे पेट में गड़बड़ी होती है या किसी घटना के कारण मानसिक परेशानी, तनाव पैदा होते है उस दिन हमे सपने ज्यादा दिखाई देते है।

कई बार रात के आखिरी प्रहर में जब हमारी नींद हलकी पड़ जाती है और आस पास के वातावरण में कोई विशेष शब्द या किसी का बात करते हुए सुनाई देता है तो हमे वही बात स्वप्न की तरह दिखाई पड़ने लगती है। बहुत से स्वप्न तो ऐसे ही निर्थक होते है उनका कोई अर्थ नहीं होता, ऐसे सपने मानसिक तनाव और मन में किसी बात को ज्यादा दबाकर रखने से आते है।

तो चलिए अब हम आपको उन व्यक्तियों के सपनो के बारे में बताते है जिन्होंने अपने भविष्य में होने वाली घटना को सपने में देख लिया था, आप आखिरी तक इस वीडियो को पूरा जरूर देखे.

सपनो का रहस्य : 11 सपने सच होने वाले किस्से

1. गौतम बुद्धा का प्रसिद्ध किस्सा

एक किस्सा गौतम बुद्धा का है, गौतम बुद्धा के जन्म से पहले उनकी मां को सपने में एक सफ़ेद हाथी अपनी सूंड में एक सुन्दर कमल का फूल लिए आते हुए दिखा और यह हाथी बादलो के रूप में बदलकर उनकी कोंख में चला गया जब सुबह हुई तो बुद्धा की माता ने राजा शुद्धोधन को सपने के बारे में बताया फिर राजा ने दरबार में ज्योतिषियों को बुलवाया और उनसे इसका सही अर्थ बताने को कहा, सभी ज्योतिषियों ने कहा यह महान सन्यासी बनेगा और दुनिया को नया धर्म देगा और अगर यह सन्यासी नहीं बना तो यह एक महान चक्रवाती सम्राट बनेगा।

राजा ने सिद्धार्थ को सभी सुख दिए ताकि वह कभी सन्यास का न सोच ले लेकिन एक दिन रात में सिद्धार्थ महल छोड़कर जंगल की ओर चल दिए फिर कुछ सालों बाद यही सिद्धार्थ गौतम बुद्धा के नाम से प्रसिद्द हो गया और आज हम सब इन्हे जानते है।

यह सवाल आपके मन में भी उठा होगा की क्या नींद में देखे गए सपने सच होते है, क्या वो सच हो सकते है। आपके इन सवालो के जवाब में पेश है यह सच्ची घटनाये पड़ें इन्हे पूरा।

2. अब्राहम लिंकन की मौत का किस्सा

इतिहास में और धार्मिक ग्रंथों में कुछ ऐसे सपनो का विवरण मिलता है, जिनको सभी विवेकशील व्यक्तियों ने रहस्य्पूर्ण माना है। ऐसी ही एक सबसे महत्वपूर्ण और आश्चर्यजनक घटना अमेरिका के महान राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन की हत्या की भी है।

इस घटना में एक बहुत ख़ास बात यह हुई थी की हत्या के दो दिन पहले ही लिंकन ने एक सपना देखा था की उनकी हत्या कर दी गई है। उनके मन में इस सपने का ऐसा असर पढ़ा था की उन्होंने दूसरे ही दिन अपने जीवनी लेखक को बुलाया और अपने सपने के बारे लिखने में कहा जो की इस तरह था :

लिंकन ने बताया था की : उस रात को में एक पत्र की प्रतीक्षा में देर रात तक जागता रहा, तभी मुझे नींद लग गई और में सो गया। फिर मुझे नींद में सपने में ऐसा महसूस हुआ, जैसे मेरे चारों तरफ बड़ा सन्नाटा छाया हुआ है, तभी मेने किसी के रोने की आवाज सुनी, ऐसा लगता था जैसे बहुत से लोग रो रहे है, में अपना बिस्तर छोड़कर सीढ़ियों से निचे उतर गया और चारों तरफ घूमकर देखने लगा।

दुःख भरी रोने की आवाज ने वातावरण के सन्नाटे को भंग कर दिया था, लेकिन वह सभी मुझे दिखाई नहीं दे रहे थे तभी में एक कमरे से दूसरे कमरे की ओर गया मेने वहां देखा की एक मंच पर सफ़ेद कपड़ों में लिपटा हुआ एक शव रखा है और उसके चारों और सैनिक खड़े है।

शव का चेहरा ढका हुआ था मेने एक सैनिक से पूछा – वाइट हाउस में ये किसीकी मृत्यु हो गई है? तभी सैनिक ने उत्तर दिया राष्ट्रपति की. कहने की आवश्यकता नहीं की इसके बाद ही 14 अप्रैल 1864 को लिंकन को गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। इस घटना को सुनकर कई लोग चौक गए थे।

3. वार्ड डफरिन की जान बची

अब्राहम लिंकन की तरह वार्ड डफरिन भी एक ऐतिहासिक पुरुष थे, एक बार आयरलैंड में जब वह अपने किसी दोस्त के घर पर ठहरे थे, तब उन्होंने सपने में देखा की वे किसी जंगल में जा रहे है और उन्हें किसी के कराहने की आवाज़ सुनाई पड़ रही है। वे तेजी से आगे बड़े और देखा की एक व्यक्ति पीठ पर बड़ा सा संदूक लादकर जा रहा है।

डफरिन ने जोर से आवाज़ देकर पूछा – इस बॉक्स में क्या है ? वह व्यक्ति उनकी तरफ मुड़ा तो उसका चेहरा इतना विकराल और डरावना था की लार्ड डफरिन अपनी जगह चुप-चाप खड़े रहे। इतने में वह व्यक्ति अदृश्य हो गया, इधर डर के कारण उनकी नींद खुल गई, लेकिन फिर भी वे उसकी भयंकर सी सूरत को भूल नहीं सके।

कुछ समय बाद डफरिन को राजदूत बनाकर फ्रांस भेजा गया। वहां एक दिन उनको होटल में किसी राजनितिक सम्मलेन में भाग लेने जाना पड़ा। जब वे ऊपर की मंजिल में जाने वाली लिफ्ट के पास पहुंचे तो यह देख कर दंग रह गए जो भयंकर सी शक्ल वाला व्यक्ति जो उन्होंने सपने में देखा था वही उस लिफ्ट को चला रहा है।

वे तुरंत होटल मैनेजर के पास जाकर उस लिफ्ट मेन के बारे में पूछताछ करने लगे। इतने में ही वह लिफ्ट मकान की पांचवी मंजिल पर पहुंचकर टूटकर गिर पड़ी और उसमे सवार सभी व्यक्तियों की मृत्यु हो गई।

इस सपने के वजह से वार्ड डफरिन की जान बच गई, इसके बाद यह घटना चारों और फेल गई और सभी समाचार पत्रों में इसका उल्लेख भी किया गया।

Sapno Ka Rahasya Kya Hai ?

4. टाइटैनिक जहाज का डूबना

श्री रिटेल ने अपनी एक किताब पर्सनालिटी ऑफ़ मेन में एक ऐसे ही सच होने वाले सपने के बारे में बताया है। इंग्लैंड का बहुत प्रसिद्ध नया जहाज टाइटेनिक अपनी पहली यात्रा पर अमेरिका जा रहा था।

इंग्लैंड के एक सज्जन ने 22 मार्च 1912 को उसका एक टिकट ख़रीदा। पर जहाज के रवाना होने के दस दिन पहले उन्होंने सपने में देखा की जहाज का एक सिरा ऊंचा उठ गया है और उसके यात्री आस पास तैर रहे है। दूसरी रात को भी यही सपना उन्हें फिर दिखाई दिया, वे इस समय Newyork से समाचार आने की राह देख रहे थे, फिर वहां से पत्र आया उन्होंने समझ लिया की अभी वहां जाने की इतनी जल्दी नहीं है और वह फिर बाद में सफर पर जायेंगे तो उन्होंने टाइटेनिक के टिकट वापस कर दिए। टाइटेनिक इंग्लैंड से 10 अप्रैल 1912 को रवाना हुआ और 14 या 16 अप्रैल को डूब गया। उसके सात सो यात्री उसी रात को डूब मरे, जब जहाज डूबने की खबर उस सज्जन को मिली तो वह बड़े चकित हुए और फिर उनकी यह खबर समाचार में भी निकली थी (swapna rahasya)।

5. सपने में शादी की सुचना मिलना

आई हैव नो वौइस् नामक मनोविज्ञान के ग्रन्थ में श्रीमती नाडीन डोरिस महिला की एक अद्भुत घटना छपी है। वह अपनी शादी के सम्बन्ध को लेकर काफी परेशान रहती थी। एक रात को उन्होंने सपने में देखा की वह अपने कमरे में बहुत से लोगों के साथ खड़ी है और तभी अचानक फ़ोन की घंटी बजती है, बात करने पर किसी ने शादी का प्रस्ताव किया नाडीन डोरिस ने हाँ कर दी और वही पास खड़े लोगों को शादी में आने का निमंत्रण भी दे दिया।

सुबह नींद खुलने पर वह इस सपने पर बहुत हंसी, और सोचने लगी की सच में यह सपना फ्रायड के सिद्धांत की पुष्टि करने वाला था, उन्होंने सोचा की वास्तविक जीवन की अतृप्त इच्छाये, जो अचेतन में छिपी पड़ी रहती है ऐसे सपनो में संतुष्टि ढूंढती है। पर आगे चलकर उनकी शादी ठीक उसी तरह हुई जैसा की उन्होंने सपने में देखा था, इससे नाडीन डोरिस और उनके करीबी लोग काफी आश्चर्यचकित हुए।

इसी तरह सकॉट लैंड के राजा जेम्स को सपने में चेतावनी दी गई थी की अगर वह इंग्लैंड पर हलमा करेगा तो स्वयं ही मारा जायेगा। जेम्स ने इस पर ध्यान नहीं दिया और सचमुच उनकी मृत्यु इंग्लैंड से युद्ध करते समय रणक्षेत्र में हो गई। ऐसा ही एक और किस्सा नेपोलियन का भी है, नेपोलियन जब वह सेंटहेलेना में कैद थे तब किसी ने उन्हें सपने में कहा था की तुम्हारी मृत्यु इस तारीख को हो जाएगी वह बताते है की नेपोलियन की मृत्यु ठीक उसी दिन हुई जैसा की उन्होंने सपने में देखा था।

6. भैंसे द्वारा मृत्यु होना

कुछ साल पहले एक दीपक समाचार नामक पेपर हमने लुधियाना में पढ़ा था उसमे किसी ब्राह्मण के यहां झीवर नौकर था जो रोजाना सुबह के समय पूजा के लिए बेल के पेड़ पर चढ़कर बिल्वपत्र तोड़ कर लाता था। एक दिन सपने में उसने देखा की पेड़ के निचे एक भैंसा खड़ा है और कह रहा है – में निचे उतारते ही तुझे मार दूंगा।

उस समय तो उसने स्वप्न की बात समझकर कुछ ध्यान नहीं दिया पर कुछ दिन बाद सुबह के समय जब वह पेड़ पर चढ़ा तो सचमुच एक सांड वहां आकर खड़ा हो गया। यह देख कर झीवर इतना डर गया की भय के कारण ही स्वयं पेड़ से निचे गिर गया और उसकी मृत्यु हो गई।

7. सपने में रहस्य का पता चलना

एक और रहस्य्पूर्ण स्वप्न के बारे में जो की human personality नामक पुस्कत में दिया गया है, उसमे बताया गया है की अमेरिका के सुप्रसिद्ध विश्विद्यालय के प्रोफेसर हिलेरटे के एक बहुत प्राचीन आभूषण पर खुदे अक्षरों का अर्थ समझने का प्रयास कर रहे थे। वह बेबीलोनिया के किसी सम्राट से सम्बंधित और तीन हजार साल से ज्यादा पुराना था। उसके दो टुकड़े थे जिनके शब्दों का कोई ठीक अर्थ समझ में नहीं आता था।

एक दिन आधी रात के लगभग उन्होंने सपने में देखा की एक लम्बा, दुबला पतला पुजारी उनको प्राचीन युग के निप्पूर मंदिर के भंडार में ले गया और कहा की उसके पास आभूषण के जो दो टुकड़े है वे अलग अलग नहीं बल्कि एक ही गोल वास्तु से तोड़कर बनाये गए है।

वह आभूषण बादशाह कुरिगालजु ने अपना नाम लिखवाकर बेल देवता को भेंट स्वरुप भेजा था। कुछ समय बाद आवश्यकता पड़ने पर उसने उस आभूषण को तोड़कर उसी से देवमूर्ति के दो कर्णाभूषण बना दिए इसलिए अगर वह उन दोनों टुकड़ों को जोड़कर पढ़े तो शब्दों का ठीक अर्थ समझ में आजायेगा।

अगले दिन जब प्रोफेसर हिलेरटे ने उनको जोड़कर देखा तो उन पर स्पष्ट पढ़ा गया “भगवान् निलिब को सम्राट कुरिगालजु की भेंट। प्रोफेसर ने इस सपने को किसी प्राचीन मृतात्मा की कृपा की तरह समझा जिससे वे एक अज्ञात समस्या का रहस्य जान सके।

8. सपने में भाई के पुनरजन्म की खबर

केसरी के भूतपूर्व सम्पादक श्री जे अस करंदीकर ने एक सार्वजनिक सभा में यह सपना सुनाया था। जब वे अहमदाबाद में थे तो एक रात को स्वप्न में अपने बड़े भाई को देखा, जिन्हे मरे लगभग 25 साल हो चुके थे। सपने में उनके मरे बड़े भाई ने कहा की अब मेने फिर से जन्म लिया है।

करंदीकर ने उस सपने की तारीख और समय अपनी डायरी में लिख ली थी फिर दूसरे दिन पूना आ गए और वहां अपने भतीजे का भेजा एक पत्र पाया जिसमे उसके घर पुत्र के जन्म होने का समाचार था। वह बच्चा ठीक उसी समय पैदा हुआ था जिस समय करंदीकर ने वह बड़े भाई का सपना देखा था। उन्होंने अपने स्वप्न का वर्णन भतीजे को लिख भेजा और सूचित किया की बच्चे का वही नाम रखा जाए जो उसके बाबा का था।

9. सपने में दूरदर्शन की घटना

अब भी विचार सञ्चालन की शक्ति के अद्भुत उदाहरण संयोगवश मिल जाते है। कुछ समय पहले समाचार पत्रों में पोलेंड की एक लड़की मेरना के सपने का किस्सा छपा था, जिसने विज्ञानं जगत में एक हलचल पैदा कर दी थी।

उसे एक रात सपना आया की उसका पति, जो सेना में काम कर रहा था, किसी सुरंग में फंसा है, जहाँ मोमबत्ती जल रही है और वह बार बार मेरना का नाम लेकर पत्थर हटवाने की प्राथना कर रहा है। लेकिन जब मेरना ने इसका जिक्र दूसरे लोगों से किया तो उसकी खूब हंसी उड़ाई गई।

इस बिच मेरना को यह सपना बार बार आने लगा, जिससे उसकी हालत विक्षिप्त के जैसे होने लगी। डॉक्टर ने उन्हें पागल भी घोषित कर दिया था। कुछ ही दिनों की बात होगी मेरना एक किले के पास से गुजर रही थी, तभी किले की सुरंग देख कर वह चिल्लाने लगी और कहने लगी यह वही जगह है जहाँ उसका पती फंसा हुआ है।

मेरना के बहुत जिद करने पर जब वहां पड़े पत्थरों को खोदकर हटाना शुरू किया गया तो कुछ ही देर में सुरंग का दरवाजा निकल गया। उसके भीतर से किसी मनुष्य के कराहने की आवाज़ आ रही थी। दरवाजा खोला गया और भीतर से वह व्यक्ति बड़ी निर्बल कमजोर मिली कुचली हालत में घिसटकर बाहर निकल आया।

उसने बताया की जब वह फौजी स्टोर की रखवाली कर रहा था तो एक गोला वहां गिरा जिससे सुरंग का दरवाजा बंद हो गया था। इस तरह मेरना जिसे लोग पागल कह रहे थे उसने सबको आश्चर्यचकित कर दिया और इससे विज्ञानं जगत बड़ा हैरान हुआ।

इस तरह की अनेक घटनाओ के होने से अब कितने ही वैज्ञानिक भी यह मानने लगे है की मनुष्य में वास्तव में ऐसी कोई चैतन्य शक्ति जरूर है जो किसी दुर देश या काल की घटना को स्वप्न में दिखला सकती है। जब हम पुरे प्राणो से किसी चीज के बारे में सोचते है या पुरे मन से किसी को याद करते है तो यह सन्देश सामने वाले तक विचार या स्वप्न के जरिये पहुंच जाता है।

10. सपने में दवाई बनाने की विधि मालूम हुई

डॉक्टर एस ऍन भिसे ने लंदन में ही मेडिकल की पढाई की और फिर वह वही रहने लगे। सन 1917 में वे आयोडीन से एक नई दवा बना रहे थे। उन्होंने सैंकड़ों परिक्षण किये पर वे आयोडीन को पूरी तरह विषरहित बनाने में सफल नहीं हो सके।

इस तरह परिश्रम करते उनको 18 महीने बीत गए पर कोई विधि न मिल सकी। तब उन्होंने सपने में देखा की कोई व्यक्ति उनसे दक्षिण अमेरिका की किसी जड़ी बूटी का प्रयोग करने को कह रहा है। उन्होंने उसी समय उसी विधि से उस पौधे का प्रयोग किया और वह दवा बनाने में सफल हो गए। इस तरह सालों की मेहनत के बाद सिर्फ एक रात के सपने ने उनको सफलता दिलाई। अक्सर जब हम पूरी तरह निराश हो जाते है तब सपने ज्यादा सच्चे और सटीक आते है और हमारी समस्या का हल भी दर्शाते है।

11. सपने में पुनर्जन्म की घटनाये

कई बार हमको सपने में ऐसी घटनाये भी दिखाई देती है जिनका इस जन्म से कोई लेना देना नहीं होता। उनके सम्बन्ध में फ्रायड और अन्य आधुनिक वैज्ञानिको के मतानुसार यह नहीं कहा जा सकता की वह हमारी अतृप्त अभिलाषाओं, कामनाओ के कारण दिखाई दे रही है।

पर भारत के प्राचीन शास्त्रों से उनका स्पष्ट उत्तर मिलता है की सपनो की वह घटनाये हमारे पूर्वजन्मों से सम्बन्ध रखती है। इस विषय पर भारतीय योग-विज्ञानं की दृष्टि से विचार करते हुए एक विद्वान ने लिखा है

व्यक्ति को जब नींद आती है तो उसका मन सुषुन्मा नाड़ी में प्रवेश कर जाता है। आयुर्वेद में मन के सुषुन्मा में प्रवेश को निद्रा यानी नींद कहा गया है। हम अधिकतर अपने मन की अनुभूतियों से सपने देखते है पर मन की कल्पनाशक्ति को तेज मानते हुए भी उसकी एक सिमा निश्चित होती है।

फिर उन सपनो का, जो हमारे विचारों की प्रतिक्रिया और वासनाओ की तृप्ति से सम्बंद नहीं रखते उनका उद्गम कहा है, और क्यों है। वर्तमान का विज्ञानं अभी इस रहस्य का जवाब नहीं दे पाता लेकिन इसका उत्तर योग शास्त्र ही देता है।

योग शास्त्रों के मत से शुषुन्मा नाड़ी में व्यक्ति के जन्म जन्मान्तरों का इतिहास लिखा रहता है और इस तरह के सपने देखते समय हमारा मन उन बीते जन्मो की यादो में पहुंच जाता है। क्योंकि नींद में मन पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं होता वह आज़ाद होकर घूमता है इसीलिए हमे किसी भी तरह के सपने आ जाते है।

तो यह थे वह सच्चे किस्से जो की इन्होने सपने में देखे और फिर ठीक वैसा ही उनके साथ जीवन में हुआ, यही सपनो का रहस्य है swapna sapno ka rahasya Hindi me । अगर हम हमारे सपनो का सही से अध्यन करे तो हम भी इसका सही अर्थ जान सकते है। हमने बाकी वीडियो में सपनो के मतलब बताये है आप उन्हें भी देखे और जाने की किस सपने को देखने का क्या मतलब होता है।

सपनो के रहस्य : 11 किस्से आप भी पढ़कर चौंक जायेंगे

सपनो का रहस्य क्या है ? सपनो की सच्ची कहानियां यानी वह सपने जो नींद में देखने के बाद असली जीवन में सच साबित हुए। उन्ही के बारे में यह पूरी पोस्ट दी गई है। इसको पढ़ने के बाद आपको भी स्वप्ना रहस्य पर यकीन हो जाएगा और आप भी कहेंगे की हमे सपने यूंही नहीं आते और सभी सपने व्यर्थ के नहीं होते ।

Editor's Rating:
5
हमने सपनो के विज्ञानं के बारे में काफी कुछ सीखा है, काफी समय इनके अर्थ जानने में लगाए आज हमे इसके बारे में काफी कुछ मालुम है। हम चाहते है की हमें जो मालूम है उससे लोगों को लाभ हो, हम उनकी मदद कर सके, बस इसीलिए आपके समक्ष यह वेबसाइट बनाई है। इसमें हमे आपकी मदद की जरुरत है वो यह की आप इन Posts को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsaap के Group में और अपने दोस्तों को भेजे ताकि इस जानकारी का सभी लाभ उठा सके - धन्यवाद। जरूर शेयर करे।