mandir ki sidhi safai prasad puja

सपने में मंदिर देखना या जाना शुभ या अशुभ 11 मतलब

मंदिर एक ऐसा स्थान होता है जहां व्यक्ति को शांति मिलती है, यह वो स्थान है जहां हम परमात्मा से प्राथना करते है और एक पूजनीय भाव से जाते है. हम इसी बारे में सपने में मंदिर देखना या जाना क्या होता है इसके मतलब के बारे में जानेंगे, दर्शन करना या सपने में कुछ भी मंदिर से जुड़ा करते हुए देखना किस बात को दर्शाता है इस बारे में अच्छे से समझेंगे.

मंदिर में हमें आत्मीय शांति मिलती है, सुख हो या दुःख हम ईश्वर के दर्शन को जरूर जाते है. जब किसी व्यक्ति को अपने सपने में मंदिर से जुड़ा कोई भी दृश्य दिखाई पड़ता है तो यह कई बातों को दर्शाता है. इसके मतलब शुभ और अशुभ दोनों ही हो सकते है.

mandir ki sidhi safai prasad puja

Sapne Mein Mandir Dekhna

कुछ स्वप्न शास्त्र के अनुसार मन्दिर देखना शुभ होता है, अगर कोई व्यक्ति अपने सपने में किसी दूसरे व्यक्ति को मंदिर जाना, अंदर प्रवेश करते देखता है तो उसकी सभी कठिनाइयों से उसे छुटकारा मिलने का संकेत होता है और उस व्यक्ति का विवाहित जीवन में बहुत आनंदमय रहेगा. अगर कोई अपने शत्रु को मंदिर जाते हुए देखे तो यह शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने का सूचक होता है.

इसके अलावा सपने में मंदिर देखने का मतलब धर्म में रुचि यानी की आपके अंदर धार्मिक प्रवत्ति के बढ़ने का संकेत भी होता है. ऐसे में व्यक्ति के अंदर परोपकार की भावना भी बढ़ती है. जब कोई व्यक्ति सपने में अच्छा सुन्दर सजा हुए मंदिर को देखता है तो यह शुभ होता है, यह दर्शाता है की आपका आगामी जीवन खुशियों से भरा होगा, आपका आने वाला वक्त अच्छा होगा.

वही कुछ स्वप्न शास्तों के अनुसार स्वप्न में मन्दिर दिखना बहुत अशुभ होता है, यह परिवार में विद्रोह को दर्शाता है. अगर कोई स्त्री मन्दिर देखे तो यह संकेत करता है की स्त्री के पति के परिवार के सदस्यों में आने वाले समय में फुट पैदा हो सकती है.

अगर कोई रोगी अपने सपने में मन्दिर देखे तो यह उसके लिए भी अशुभ होता है और उसके रोग के और बढ़ने की और संकेत करता है. जब कोई व्यक्ति सपने में खुद को मन्दिर के अंदर प्रवेश करते हुए देखे तो यह उसके किसी व्यापार, व्यवसाय में किये गए प्रयास का नतीजा निराशाजनक होने को दर्शाता है. यानी उसको अशुभ फल की प्राप्ति होती है.

वही अगर कोई गर्भवती अपने सपने में मन्दिर के दर्शन करती है यानी किसी भी तरह से मन्दिर को देखती है तो इस का मतलब है की उनके गर्भ में किसी भी तरह की परेशानी आ सकती है. अगर कोई व्यापारी मंदिर देखे तो यह उसके लिए भी अशुभ होता है और उसे व्यापार में हानि हो सकती है.

जब कोई व्यक्ति अपने सपने में वह मंदिर देखता है जिसके दर्शन के लिए वह कभी गया हो तो समझे की वह आपको बुला रहे है, वह देव आपको खिंच रहे है ऐसे में आप उस मंदिर में दर्शन के लिए जरूर जाए. कई बार हम लम्बे समय तक मंदिर जाते है लेकिन फिर जाना छोड़ देते है तो कई बार वह हमे स्वप्न में दिखाई देने लगता है.

अगर कोई व्यक्ति अपने आपको मंदिर से निचे गिरते हुए देखे तो यह बहुत ही अशुभ स्वप्न होता है, ऐसे व्यक्ति के बुरे दिन आने वाले होते है, यहाँ तक की ऐसे व्यक्ति को मृत्यु जैसा कष्ट भी उठाना पड़ सकता है. चाहे कैसी भी स्थिति में यह स्वप्न दिखाई दें बताया गया फल उसे जरूर प्राप्त होता है जो की व्यक्ति को बहुत बुरे फल देता है.

सपने में मंदिर देखना या मंदिर जाना

जब कोई व्यक्ति सपने में मंदिर जाना देखता है तो इस का मतलब है की व्यक्ति के अंदर अध्यात्म बढ़ेगा और इसके अलावा यह भी हो सकता है की आपने मंदिर में कोई मनोकामना की हो और वह पूरी भी हो गई हो लेकिन आप मंदिर में ईश्वर को धन्यवाद देना भूल गए है.

यह स्वप्न आने वाले समय में किसी समस्या के आने का सूचक भी हो सकता है, ऐसी समस्या जो घर परिवार व कार्य में दिक्कत पैदा करती हो. जब हमें स्वप्न आता है तब उन दिनों हमारी क्या स्थिति थी यह भी बहुत कुछ महत्त्व रखती है, आप जब मंदिर जाना देखते है तो ईश्वर से प्राथना के लिए मंदिर जरूर जाए, अगर आपने बीच मे मंदिर जाना छोड़ दिया था तो वापस नियम से जाना शुरू करे.

सपने में अगर कोई मंदिर में अंदर थोड़े देर तक खड़े हुए देखता है तो यह दर्शाता है की आप किसी चीज़ की तलाश में है जो की आपके लिए बहुत जरुरी है, इसके अलावा यह भी संकेत करता है की आप किसी आध्यात्मिक मार्ग की तलाश में है. हो सकता है की आप किसी ऐसी राह की तलाश में है जिससे की आपका जीवन सही रस्ते पर चल पड़े, अंदर से मार्गदर्शन की भावना के उठने को भी दर्शाता है.

अगर आप सपने में दूसरे लोगों के साथ मंदिर में खुद को देखते है तो यह दर्शाता है की आप जिन व्यक्तियों से वास्तविक जीवन में जुडे हुए है, वह वैसे नहीं है जैसा आप सोचते है. इसलिए थोड़ा सावधाव रहे इसके अलावा यह स्वप्न खुद पर ध्यान देने की और भी संकेत करता है.

अगर आप सपने में ऐसा मंदिर देखते है जो की एक तरह से अजबनी हो, और उस मंदिर को देख कर आपको वहां से तुरंत जाने का मन हो तो इस का मतलब है की आने वाले समय में आपको कही से कोई बुरी खबर सुनने को मिल सकती है.

जब कोई व्यक्ति मंदिर की घंटी बजाना देखता है तो यह शुभ होता है, यह व्यक्ति के जीवन में अनिष्टों को ख़त्म करता है. यह सकारात्मक होता है और अगर आप ऐसे मंदिर में घंटी बजाते हुए देखते है जिस मंदिर में आप अक्सर जाते रहते है तो आपको उस मंदिर में दर्शन के लिया जरूर जाना चाहिए.

मंदिर का प्रसाद खाना

स्वप्न में किसी भी मंदिर का प्रसाद खाना बहुत ही शुभ संकेत होता है. यह मनोकामना पूरी होने को दर्शाता है. इस तरह खुद को प्रसाद लेते हुए देखना धन, संपत्ति, सुख और सम्मान आदि की प्राप्ति का संकेत करता है. अगर कोई सपने में प्रसाद बांटते हुए किसी को देखता है या ढेर सारे लोगों को प्रसाद लेते देखता है तो यह भी शुभ होता है.

मंदिर का दरवाजा बंद देखना

जब कोई पहले से अपने जीवन में समस्याओं से घिरा हो और ऐसे में वह व्यक्ति मंदिर का दरवाजा बंद देखता है तो यह व्यक्ति के जीवन में चल रही समस्याओं के अंत होने का सूचक होता है, अगर किसी व्यक्ति का सब कुछ ठीक चल रहा हो तो ऐसे में यह स्वप्न किसी कार्य में रुकावट आने को भी दर्शाता है.

जिस भी मंदिर को आपने सपने में देखा है उसमे अगर आपको किसी भी भगवान के फोटो या मूर्ति दिखाई दी हो तो यह बहुत शुभ होता है. सुख और आनंद की प्राप्ति होती है. अगर कोई रोगी सपने में किसी भी मंदिर में किसी भी देव के दर्शन करता है तो उसके सभी रोगों का नाश होता है, ऐसे व्यक्ति का शरीर स्वस्थ होता है और जो रोग उसे है उससे छुटकारा मिलता है.

मंदिर में पूजा करना

अगर कोई व्यक्ति अपने स्वप्न में खुद को मंदिर में पूजा करते हुए देखे तो यह भी अच्छा शकुन होता है, यह कार्य में प्रगति और रुके हुए कार्य के बनने का सूचक होता है. इसके अलावा व्यक्ति का जीवन सुखी और संपन्न हो जाता है, कार्य में बाधा नहीं आती और सभी कुछ सही से चलता है. सुख और सभी बातों से व्यक्ति को जीवन में शांति मिलती है. शादीशुदा व्यक्ति व्यक्ति ऐसा स्वप्न देखे तो उसका दांपत्य जीवन बहुत सुख से भर जाता है. पति पत्नी में प्रेम स्नेह बढ़ता है और पारिवारिक क्लेश भी ख़त्म होता है.

अगर कोई कुंवारा लड़का खुद को किसी मंदिर में पूजा करते हुए देखता है तो यह बहुत शुभ होता है, ऐसा स्वप्न आने पर आने वाले दिनों में उसे अच्छे आचरण वाली और मनपसंद पत्नी मिलती है. ठीक ऐसे ही अगर कोई स्त्री ऐसा स्वप्न देखे तो उसे भी अच्छे आचरण वाला और मनपसंद पति मिलता है. यहां मनपसंद से मतलब है की जैसा आपको जीवनसाथी चाहिए वैसा जीवनसाथी आपको मिलता है. यह बहुत ही अच्छा स्वप्न है.

वही अगर कोई भक्त जो की रोजाना मंदिर जाकर पूजा करता हो और वह ऐसा स्वप्न देखे तो यह सपना बताता है की वह मंदिर के देव आपकी भक्ति से प्रसन्न है. ऐसे में व्यक्ति को भाग्योदय की प्राप्ति होती, सब बिगड़े काम बनते है.

मंदिर सीढ़ी चढ़ना

लाल किताब के अनुसार अगर कोई व्यक्ति अपने सपने में मंदिर की सीढ़ी चढ़ते हुए देखता है तो ऐसे व्यक्ति को कहीं न कहीं से तुरंत धन की प्राप्ति जरूर होती है, यह धन प्राप्ति का सूचक होता है. लाल किताब के अनुसार मंदिर की सीढियाँ देखने का अर्थ शुभ होता है इसमें अशुभ जैसा कुछ नहीं दिखाया गया है.

अगर व्यक्ति बिना किसी परेशानी के सीडी पूरी चढ़ जाता है तो यह शीघ्र सफलता मिलने का संकेत होता है, आप जिस भी क्षेत्र में काम कर रहे हो उसमे आपको सफलता मिलेगी ऐसा यह स्वप्न संकेत करता है.

इसके अलावा अगर व्यक्ति सीढ़ियों को चढ़ने में दिक्क्त महसूस करता है तो व्यक्ति को वास्तविक जीवन में भी दिक्क्त देखने को मिलती है. मंदिर की आधी सीढ़ियां चढ़कर उतरना, या सीढिये उतरते देखना अशुभ होता है यह किसी कार्य में असफलता को भी दर्शाता है.

लेकिन अगर कोई सिडिया चढ़कर दर्शन करके आकर फिर उतरता है तो यह शुभ होता है ओर किसी कार्य जो आपको कठिन लग रह हो उसमे सफलता मिलने को दर्शाता है, ऐसे में व्यक्ति कोई उपलब्धि भी हासिल कर सकता है.

अगर व्यक्ति सपने में देखता है की वह मंदिर की सीढ़ियां चढ़ते वक्त वहां से गिर गया है या वह मंदिर पर ऊपर चढ़ रहा हो और खुद को वहां से निचे गिरते हुए देखता है तो यह बहुत ही अशुभ स्वप्न होता है. ऐसा स्वप्न आने पर व्यक्ति को मृत्यु के समान दुःख उठाना पड़ सकता है. यह बहुत अशुभ स्वप्न होता है ऐसा स्वप्न देखने पर बुरे सपनो से बचने के उपाय जरूर करे और अपने जीवन में सम्हल कर रहे.

वही शकुन शास्त्र में मंदिर की सीढ़ी चढ़ना अशुभ बताया गया है, अगर आप सपने में सीधी चढ़ते हुए खुद को निराश या चिंतित देखते है तो अशुभ फल मिलते है, किसी काम में असफलता मिल सकती है. ऐसा स्वप्न देखने पर व्यक्ति की मनोकामना पूरी न होना या उसे किसी कार्य में असफलता का सामना करना पड़ सकता है. लेकिन अगर कोई देखे की वह सीढ़ी चढ़ रहा है और वह आसानी से सभी सीढ़ियां चढ़ जाता है तो यह हर तरह से शुभ होता है और व्यक्ति को सफलता मिलती है.

मंदिर की सफाई करना

अगर कोई व्यक्ति सपने में खुद को किसी मंदिर की सफाई करते हुए देखता है तो इस का मतलब आतंरिक शुद्धि से भी हो सकता है, सफाई के सपने मन के पवित्र होने व मन को पवित्र करने की ओर भी संकेत करते है.

इसके अलावा ऐसा स्वप्न देखना यह भी बताता है की आपको अपने किसी कार्य में ध्यान देने की आवश्यकता है घर, परिवार, व्यवसाय आदि में ध्यान देंगे तो आपको अच्छी प्रगति की प्राप्ति हो सकती है, अगर घर में समस्या है, व्यापार में रुकावट है ओर ऐसा स्वप्न आता है तो समझे की आपकी वह सभी समस्या ख़त्म हो जाएँगी लेकिन इसके लिए आपको ध्यान देने की भी आवश्यकता है.

मंदिर में मूर्ति देखना

अगर कोई व्यक्ति अपने सपने में मंदिर में मूर्ति देखता है तो इस का मतलब है की उसके आनंद के दिन शुरू होने वाले है. अगर कोई विवाहित स्त्री सपने में मूर्ति देखे तो एक सुन्दर पुत्र को जन्म देगी, यह भी हो सकता है की स्त्री का पति व्यापार में बहुत पैसा कमायेगा. इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति मंदिर में मूर्ति की स्थापना का स्वप्न देखता है तो यह उसकी आध्यात्मिक उन्नति को दर्शाता है.

मंदिर में टूटी हुई मूर्ति देखने पर बहुत ही अशुभ फलों की प्राप्ति होती है, इस का मतलब है की आपका बुरा समय आने वाला है, अगर कोई व्यक्ति अपने इष्टदेव की प्रतिमा, मूर्ति टूटी हुई देखे तो ऐसे में व्यक्ति को मृत्यु के सामान कष्ट भोगना पड़ सकता है यहाँ तक की व्यक्ति की मृत्यु आगामी दिनों में हो सकती है. यह पूरी तरह से अशुभ होता है. शकुन शास्त्रों में भी टूटी मूर्ति खंडित मूर्ति देखना अशुभ बताई गई है. अगर आपको ऐसा स्वप्न आया है तो आप पुरे तरह से सतर्क हो जाए और किसी भी जोखिन भरे कामो से बचे, मंदिर जाकर प्राथना करे.

मंदिर में पुजारी को देखना

जब कोई स्वप्न में मंदिर देखता है और उस मंदिर में पुजारी भी दिखाई पड़ता है तो यह अशुभ होता है. ऐसे मंदिर में पुजारी का दिखाई देना घर में कलह पैदा होने की और संकेत करता है, घर में किसी भी तरह की अनबन कलह क्लेश शुरू होने लगता है, आपसी विवाद होने लगते है. इस तरह से मंदिर में पुजारी का दिखाई पड़ना अशुभ परिणाम देता है.

अगर किसी व्यक्ति को मंदिर का पुजारी तिलक लगाई हुए दिखाई दें तो यह भी अशुभ होता है ऊपर बताये गए फलों की ही प्राप्ति करवाता है, कलह विवाद अनबन आती है.

इस तरह से सपने में मंदिर जाना का मतलब व मंदिर देखने, (sapne me mandir) के बारे में आपने स्वप्न फल जाने. हमने आपको इसके शुभ ओर अशुभ फल दोनों ही बताये है. इसके अलावा जब किसी व्यक्ति को बार बार कोई एक ही मंदिर दिखाई पड़े, जिसे उसने इस जन्म में देखा ही नहीं तो समझे की उसका जरूर ही कोई सम्बन्ध उस स्थान से रहा होगा, इस जन्म न सही किस जन्म में जरूर ही कोई सम्बन्ध रहा होगा. बाकी उम्मीद करते है की आपको स्वप्न में मंदिर आदि देखने के अर्थ जानकर अच्छा लगा होगा.

इसके अलावा आपने मंदिर का कैसा स्वप्न देखा वह आप हमे कमेंट में जरूर बताये. आपको क्या-क्या दिखा और आपको जब स्वप्न आया उस समय सपने में आप खुद कैसा महसूस कर रहे थे यह सब बताये.

हमने सपनो के विज्ञानं के बारे में काफी कुछ सीखा है, काफी समय इनके अर्थ जानने में लगाए आज हमे इसके बारे में काफी कुछ मालुम है। हम चाहते है की हमें जो मालूम है उससे लोगों को लाभ हो, हम उनकी मदद कर सके, बस इसीलिए आपके समक्ष यह वेबसाइट बनाई है। इसमें हमे आपकी मदद की जरुरत है वो यह की आप इन Posts को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsaap के Group में और अपने दोस्तों को भेजे ताकि इस जानकारी का सभी लाभ उठा सके - धन्यवाद। जरूर शेयर करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!