shiv parwati photo murti gusse baat karna sakshat

शिवजी से जुड़े सपने देखना शुभ या अशुभ 15 सही मतलब, खुलेंगे भाग्य

सपने में शिवजी को देखना क्या होता है बताये क्या यह शुभ होता है या अशुभ ? इनको देखने पर असल ज़िन्दगी में क्या प्रभाव होता है, आखिर क्यों किस वजह से भगवान शिव शंकर किसी को स्वप्न में दर्शन देते है, आखिर क्यों सिर्फ कुछ ही लोगों को ऐसे सपने आते है, इसका क्या सम्बन्ध हो सकता है. आइये जानते है शिव जी पार्वती जी और उनसे जुड़े सभी तरह के सपनो के बारे में.

महाशिवपुराण में यह बताया गया है की लाखो जन्मो के बाद शिव जी को पूजने का मौका मानव को मिलता है और अगर ऐसे में किसी व्यक्ति को भगवान भोलेनाथ का सपना दिखाई देता है तो यूं समझे की भोले बाबा की विशेष कृपा है. जिन्होंने अपने पिछले जन्मो में शिव की बहुत पूजा आराधना की हो उनको इस जन्म में अक्सर शिव जी कई रूपों में स्वप्न में आकार दर्शन देते है.

सुबह के समय अगर भगवान भोलेनाथ, महाकाल स्वप्न में दिखाई दे तो यह असर करता है, यानी असल जीवन में इसका असर होता है, जल्दी होता है, सुबह के समय के स्वप्न जल्दी फलित होते है. मानव मस्तिष्क में विचार हर घडी चलते ही रहते है, सोते वक्त भी यही विचार स्वप्न बनकर सामने आते है.

लेकिन जब हम गहरी नींद में होते है तब हमारा अंतर-मन हमे स्वप्न के जरिये भुत भविष्य के बारे में कई सूचनाएं दर्शाता है. क्योंकि नींद में हमारा चेतन मन सो जाता है जिससे की अवचेतन मन भुत भविष्य कैसे भी सीन दिखा देता है, क्योंकि उस पर नींद लग जाने के बाद चेतन मन का कण्ट्रोल नहीं होता है. इसी वजह कई बार हमे ब्भविश्य में होने वाली घटना का प्रतीकात्मक रूप में संकेत मिल जाता है.

shiv parwati photo murti gusse baat karna sakshat

Sapne me Shiv Ji ko Dekhne Ka Matlab Kya Hota Hai

इसीलिए शिव शंकर के स्वप्न के फल के बारे में जानने से पहले हम आपको यह साफ़ कर देना चाहते है की सिर्फ सुबह 3:30 से लेकर सूर्योदय होने के बिच, यानी जब व्यक्ति गहरी नींद में होता है और ऐसे समय के बिच जब शिव भगवान का कोई स्वप्न आता है या शिवजी के दर्शन होते है तो यह शुभ फलकारी होते है और आपके जीवन को प्रभावित करते है.

जब बार बार आपको कोई एक ही भगवान भोलेनाथ का स्वप्न आने लगे या रात में किसी एक ठीक समय पर रोजाना वह स्वप्न आने लगे तो आप यह जान ले की आप सामान्य व्यक्ति के जैसे नहीं है, आप पर भगवान महाकाल की कृपा है, जरूर ही पिछले जन्मो में आप बड़े भक्त रहे होंगे.

क्योंकि हम एक बार मरने के बाद अगले जन्म में इस जन्म का किया भूल सकते है लेकिन भगवान अपने भक्त को कभी नहीं भूलते, तो ऐसे में हमारा अंतर मन हमे वापस उस शक्ति से जोड़ने के लिए कई महाकाल से जुड़े दृश्य, फोटो, तस्वीर, मूर्ति आदि दिखाता है. ताकि हम वापस फिर से शिवजी का सानिध्य पा सके. अब चलिए आगे भगवान भोलेनाथ से जुड़े स्वप्नों के बारे में चर्चा करते है.

हम यहां पर आपको शिव पार्वती गणेश, मंदिर, शिव जी की पूजा करना, भोलेनाथ महाकाल रूप में देखना, तांडव, अर्धनारीश्वर, शिवलिंग, शिव जी से बात करना, गुस्से में देखना, जल चढ़ाना व शिव परिवार और त्रिशूल आदि को सपने में देखने के अर्थ के बारे बताएंगे.

सपने में शिवजी को देखना

अगर आप पहले से ही शिव जी की पूजा करते है, आप महाकाल के भक्त है और ऐसे में आपको शिव जी दिखाई देते है तो यह आपकी मनोकामना पूरी होने का सूचक होता है, यह शुभ स्वप्न होता है और आपको अपने कार्य में सफलता दिलवाता है.

अगर आप किसी मकसद यानी किसी परेशानी से छुटकारा पाने के लिए शिव जी की आराधना कर रहे हो और ऐसे में शिव जी के दर्शन होते है तो यह आपकी पूजा आराधना के सफल होने का सूचक होता है. आपने जिस भी समस्या के हल के लिए महाकाल की पूजा की थी उसका समाधान जल्द ही हो जायेगा और आप पर शिव जी की विशेष कृपा बनी रहेगी.

विज्ञानं के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति को शिव जी दिखाई देते है तो इसके यह मतलब हो सकते है, पहला मतलब है, हो सकता है वह व्यक्ति शिव भक्त हो और शिव जी को पूजने की उसके अंदर खूब भक्ति हो लेकिन वह किसी कारण यह नहीं कर पा रहा हो. दूसरे अर्थो में कहे तो आपके अंदर शिव जी के लिए अत्यधिक प्रेम है.

दूसरा अर्थ है, जरूर ही वह व्यक्ति पिछले जन्म में शिवजी का विशेष भक्त रहा हो या उसने कोई मन्नत रखी हो और वह उसे पूरा नहीं कर पाया हो तो ऐसे में उसका अंतर्मन उसे पुरानी भक्ति व मन्नत को पूरा करने के लिए सपनो के जरिये सचेत करता है.

वैसे हमने आपको अभी तक बताया नहीं की सपने में शिवजी को देखने का मतलब क्या होता है यह शुभ फल देता है या अशुभ फल देता है ?

स्वप्न में शिव जी का दिखाई देना बहुत ही शुभ शकुन होता है. शिव को देखने से सभी पापो, कष्टों, भय और आने वाली विपत्तियों का नाश होता है, भगवान शिव का दिखना होने वाली किसी घटना, बुरे वक्त के नष्ट हो जाने का सूचक भी होता है. इसके अलावा व्यक्ति को सांसारिक सुखों की भी प्राप्ति होती है. शिव जी की मूर्ति, प्रतिमा या फोटो दिखाई देने पर भी व्यक्ति को ऊपर बताये फल ही मिलते है.

साक्षात शिव जी को देखना

साक्षात शिव जी को देखना बहुत ही दुर्लभ होता है और ऐसा बहुत ही कम चुनिंदा लोगों के साथ होता है. जिन लोगो पर शिवजी की विशेष कृपा होती केवल उन्ही को शिव जी साक्षात रूप में दिखाई देते है, साक्षात शिव जी को देखने पर व्यक्ति के सभी दुखो का नाश हो जाता है, परेशानियां ख़त्म होने लगती है. जातक को सुख-शांति, सुमति, सुख्याति प्राप्त होने लगती है.

इसके अलावा व्यक्ति जिस स्थिति में शिवजी का स्वप्न देखता है उसे उसके मुताबिक भी फल मिलता है और वह फल शुभ ही होता है. अगर कोई बीमार व्यक्ति सपने में शिव जी को देखे तो उसके रोग जल्द ही ख़त्म होंगे इसके अलावा अगर उसे लम्बा रोग है तो मृत्युंजय मंत्र का अनुष्ठान जरूर करवाना चाहिए.

कोई व्यक्ति अगर बुरे वक्त से गुजर रहा है और उसे शिवजी का स्वप्न दिखाई देता है तो यह उसकी सभी परेशानियों और विपत्तियों के ख़त्म होने का संकेत होता है, जल्द ही ऐसे व्यक्ति का अच्छा वक्त आने लगेगा.

ऐसे व्यक्ति जो शिव जी की कोई विशेष पूजा नहीं करते और उन्हें बार बार शिव जी के स्वप्न आते हो तो यह उनके पिछले जन्म में शिव भक्त होने का सूचक होता है. इस जन्म में आप तो शिवजी को भूल गए लेकिन भगवान कैसे अपने भक्त को भूल सकता है, इसीलिए जब कोई देवता किसी व्यक्ति पर प्रसन्न होते है तो वह उसे सपनो में दर्शन देने लगते है.

शिव जी की पूजा करना, जल चढ़ाना

स्वप्न में शिवजी की पूजा करते हुए देखना भी शुभ ही होता है, कार्य में सफलता और मनोकामना पूरी होने का संकेत होता है. अगर आप शिवजी की पूजा नहीं करते है और ऐसे में आपको शिवजी की पूजा करते हुए सपना दिखे तो यह आपके पिछले जन्म की भक्ति की ओर इशारा होता है. ऐसा सपना देखने के बाद हर सोमवार को शिव मंदिर जरूर जाए और आपसे जितना बने उतनी पूजा भी जरूर करे.

 

अगर आपकी अभी शादी नहीं हुई है और आपने शिव जी पर जल चढ़ाते हुए खुद को देखा है तो यह आपको मनपसंद पत्नी मिलने का संकेत होता है और ठीक इसी तरह कोई शादीशुदा स्त्री या पुरुष शिव पर जल चढ़ाते हुए या उनकी पूजा करते हुए खुद को देखता है तो उसका दांपत्य जीवन बहुत सुखद बीतता है, उसका जीवन सुखी और संपन्न हो जाता है.

अगर आपने किसी मंदिर में शिवजी के दर्शन के लिए जाने का या किसी मंदिर में पूजा करने का, अभिषेक करने का या शिवजी से कोई मन्नत मांगी थी और आप उसे भूल गए हो तो ऐसे में भी यह स्वप्न आता है.

शिव पार्वती को देखना

सपने में अगर कोई शिव पार्वती को एक साथ देखे तो यह हर तरह से शुभ होता है. यह आपके जीवन में नए अवसर मिलने के संकेत करता है, इसके अलावा धन वैभव की प्राप्ति भी करवाता है.

जैसा की हम सब जानते है भगवान शिव पार्वती सुखद दांपत्य जीवन का प्रतिक होते है, ऐसे में अगर कोई कुंवारा लड़का यह स्वप्न देखे तो उसका जल्द ही विवाह हो सकता है और अगर कोई शादीशुदा व्यक्ति यह स्वप्न देखे तो पति पत्नी में प्रेम बढ़ता है.

अगर पति पत्नी में टकरार चल रही थी तो वह ऐसा स्वप्न देखने के बाद ख़त्म हो जाती है, वैवाहिक जीवन मधुर हो जाता है. अगर आपकी अभी कुछ समय पहले ही शादी हुई है और आपको ऐसा स्वप्न आया हो तो समझे की आपकी जोड़ी बहुत अनूठी है और आपका वैवाहिक जीवन काफी मधुर रहेगा.

shiv pariwar

शिव परिवार को देखना

शिव परिवार का दिखाई देना परिवार में मांगलिक कार्य होने और परिवार में सुख शांति बढ़ने का सूचक होता है. इसके अलावा अगर शादीशुदा व्यक्ति ऐसा स्वप्न देखे. खासकर महिला देखे तो जल्द ही संतान सुख को प्राप्त होती है.

अगर घर में किसी तरह का मनमुटाव चल रहा हो या बुरा वक्त चल रहा हो और आपको शिव परिवार दिखाई पड़े तो यह बहुत ही शुभ होता है. आने वाले समय में आपकी पारिवारिक सभी समस्याए ख़त्म हो जाएंगी. इसके अलावा आपको भगवान शिव परिवार की पूजा भी करना चाहिए. ऐसा करने से आपको बहुत लाभ मिलेगा.

शिव जी की तीसरी आंख देखना

शिवजी की तीसरी आंख third eye देखना बहुत ही शुभ शकुन होता है, यह स्वप्न कहता है की अब आपके अपने जीवन में महत्वपूर्ण बदलाव करने का समय आ गया है. इसके अलावा यह जीवन में सतर्कता और जागरूकता से चलने की और इशारा भी करता है. यह स्वप्न जल्दी से उन्नति करवाता है और जीवन में जो भी बुरा है उसको नष्ट भी करता है.

शिव जी का डमरू देखना शुभ या अशुभ

डमरू नई ऊर्जा के संचार का प्रतिक होता है, सारे संकटों को हरता है और जीवन में एक नया बैलेंस पैदा करता है. ठीक ऐसे ही सपने में भोलेनाथ का डमरू देखना या डमरू की आवाज सुन्ना जीवन में चल रही बाधाओं को दूर करने और परेशानियों के ख़त्म होने का संकेत होता है. डमरू के दिखाई देने से सभी कष्ट ख़त्म हो जाते है आपमें जीवन के प्रति एक नई ऊर्जा बहना शुरू होती है और यह भी हो सकता है की जल्द ही आपको कोई खुशखबरी सुनने को मिले.

भोलेनाथ का त्रिशूल देखना

सपने में शिवजी का त्रिशूल दिखाई देना अत्यंत शुभ होता है. त्रिशूल भुत, भविष्य और वर्तमान का प्रतिक होता है. त्रिशूल अगर किसी को सपने में दिखाई दें तो उसे जल्द ही सौभाग्य की प्राप्ति होगी. यह सभी तरह के भय को दूर करता है और आत्मोन्नति की और बढ़ाता है. अगर आप चारों और से समस्याओं से परेशान है और ऐसे में आप यह स्वप्न देखते है तो आपकी सभी समस्याएं ख़त्म हो जाएंगी.

महाकाल का तांडव देखने का मतलब

यूं तो शिव तांडव को देखना सही नहीं माना जाता है, क्योंकि वह शिव जी का विध्वंसक रूप होता है लेकिन जब स्वप्न में शिव तांडव करते हुए दिखाई दें तो यह शुभ माना जाता है, सभी समस्याओ का नाश होता है, जीवन में आने वाले अनिष्ट ख़त्म होते है. शिव भगवान को नृत्य करते हुए, नाचते हुए देखना भी शुभ फल देता है.

शिव तांडव से व्यक्ति के जीवन में हो रहे अनिष्ट का नाश होता है. इसके अलावा भगवान भोलेनाथ को नृत्य करते हुए देखना जीवन में एक बहाव को दर्शाता है, आपके जीवन में आने वाले समय में सब कुछ एक गति से चलेगा, आपका बहुत अच्छा समय आएगा.

शिव के सिर पर चंद्र देखना कैसा होता है

शिव जी के सिर पर जो चन्द्रमा होता है वह बुद्धिमत्ता का प्रतिक होता है. अगर कोई सपने में भोलेनाथ के सिर पर अर्धचंद्र को देखता है तो यह उसकी बौद्धिक क्षमता के बढ़ने का सूचक होता है इसके अलावा यह स्वप्न दर्शाता है की व्यक्ति को अब अपने जीवन में जरुरी निर्णय लेने होंगे, शिक्षा के क्षेत्र में कोई बड़ा निर्णय लेना हो सकता है.

सपने में महाकाल, भोलेनाथ को देखना बहुत ही शुभ होता है, इनके स्वप्न बहुत कम ही लोगो को आते है, जो इनके भक्त होते है उन्हें ही इनके स्वप्न ज्यादातर दिखाई देते है. कई बार ज्यादा सोच विचार के कारण भी स्वप्न में भोलेनाथ दिखाई दे जाते है ऐसे स्वप्नों का असल जीवन में कोई प्रभाव नहीं होता है.

शिव जी को गुस्से में देखना

जब किसी व्यक्ति को शिवजी गुस्से में, क्रोध में दिखाई दे तो यह अशुभ होता है. यह आपसे जाने अनजाने हुई किसी गलती का सूचक होता है. कई बार हम जाने अनजाने में ऐसा कुछ कर देते है जो की गलत होता है, इस तरह शिवजी को गुस्से में देखना अच्छा नहीं होता है, यह व्यक्ति के जीवन में बुरे वक्त का संकेत भी होता है. ऐसे में व्यक्ति को सम्हल कर रहना चाहिए और शिवजी की भक्ति करना चाहिए ताकि ऐसा कुछ अशुभ न हो और शिवजी की कृपा भी प्राप्त हो सके.

उम्मीद करते है आपको यह सपने में भोलेनाथ को देखने का मतलब, sapne mein shiv parvati ko dekhna bataye kaisa hai के इस पोस्ट को पढ़कर अच्छा लगा होगा. हमे आप यह जरूर बताये की आपको शिव शंकर स्वप्न में किस रूप में आये थे और अगर आपको बताये गए भोलेनाथ के सपनो से किसी बात पर कोई संदेह है तो वह भी आप कमेंट के जरिये हमसे पूछकर क्लियर कर सकते है.
अगर किसी को सावन में शिवजी के सपने आते है तो यह भी शुभ संकेत होता है. ऐसे में आप शिव मंदिर जरूर जाए और बिल्व पत्र आदि चढ़ाये. इसके अलावा अगर आपने मन में कोई मन्नत मांगी थी और अब उसे भूल गए हो आपको याद नहीं रहा हो तो मंदिर जाकर उनसे प्राथना करे.
हमसे जुड़े रहने के लिए धन्यवाद, मुझे जिस तरह से समय मिलता है में वैसे वैसे आपकी सेवा में हाजिर हो जाता हूं, देरी के लिए में आपसे माफ़ी चाहता हूं. आपको भोलेनाथ ने किस रूप में स्वप्न में दर्शन दिए वह आप कमेंट के जरिये हमे जरूर बताये.
हमने सपनो के विज्ञानं के बारे में काफी कुछ सीखा है, काफी समय इनके अर्थ जानने में लगाए आज हमे इसके बारे में काफी कुछ मालुम है। हम चाहते है की हमें जो मालूम है उससे लोगों को लाभ हो, हम उनकी मदद कर सके, बस इसीलिए आपके समक्ष यह वेबसाइट बनाई है। इसमें हमे आपकी मदद की जरुरत है वो यह की आप इन Posts को ज्यादा से ज्यादा Facebook, Whatsaap के Group में और अपने दोस्तों को भेजे ताकि इस जानकारी का सभी लाभ उठा सके - धन्यवाद। जरूर शेयर करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!